Wednesday, 1 November 2017

रसोई 6

सोंठ के लड्डू-


सोंठ के लड्डू (Sonth ke Laddu) पारम्परिक लड्डू हैं जो जच्चा को डिलीवरी के बाद खिलाये जाये हैं. इसके अलावा सोंठ के लड्डू (Dry Ginger Laddu) सर्दी के मौसम में व कमर दर्द से आराम पाने के लिये भी खाये जाते हैं.
आवश्यक सामग्री -
सोंठ (Ginger powder) - 1/3 कप ( 25 ग्राम)
गुड़ - 1. 25 कप ( 250 ग्राम)
सूखा पका नारियल - 1 कप कद्दूकस किया हुआ (50 ग्राम)
गेहूं का आटा- 3/4 कप ( 100 ग्राम)
देशी घी - 1/2 कप ( 125 ग्राम)
बादाम - 1/4 कप ( 35 ग्राम)
गोंद - 1/4 कप ( 50 ग्राम)
पिस्ते - 10-12
विधि -
गोंद को छोटे टुकड़े तोड़ कर तैयार कर लीजिये. बादाम मिक्सर में डालकर पीस लीजिये. पिस्ते को पतला पतला काट लीजिये.
कढ़ाई में घी डालकर गरम कीजिये, थोड़ा घी बचा लीजिये, घी को मीडियम गरम कीजिये और गोंद को धींमी गैस पर भून लीजिये, गोंद फूल कर चार गुने आकार में हो जाता है, भुने गोंद को अलग प्लेट में निकाल लीजिये. बचे हुये घी में आटा डालिये और लगातार चलाते हुये मीडियम और धीमी आग पर ब्राउन होने तक भून लीजिये. भुने आटे को अलग प्लेट में निकाल कर रख लीजिये.
कढ़ाई में 2 चम्मच घी डालिये और पिघलने दीजिये, सोंठ को घी में डालिये और धीमी आग पर हल्का सा 1- 1.5 मिनिट तक भून लीजिये, भुनी सोंठ को भुने आटे वाली प्लेट में ही निकाल लीजिये.  भुना गोंद ठंडा होने पर उसे प्लेट में ही बेलन की सहायता से पीस लीजिये.
कढ़ाई में बारीक तोड़ा हुआ गुड़ डालिये और धीमी आग पर गुड़ को पिघलने दीजिये. गुड़ पिघलने पर गैस बन्द कर दीजिये, पिघले गुड़ में आटा, सोंठ,गोंद, बादाम पाउडर, नारियल और पिस्ते डालकर सारी चीजें को अच्छी तरह मिलने तक मिला दीजिये, अब कढ़ाई को गैस से उतार लीजिये, हल्के गरम में ही मिश्रण से लड्डू बांध लीजिये.
थोड़ा सा मिश्रण हाथ में उठाइये, और दबा दबा कर गोल लड्डू बना लीजिये, सोंठ के लड्डू हैं इन्हैं थोड़े छोटे ही बनाइये, सारे मिश्रण से इसी तरह लड्डू बना कर तैयार कर लीजिये, इतने मिश्रण से 18 लड्डू बनकर तैयार हो जायेंगे. लड्डू को 2-3 घंटे तक खुले हवा में छोड़ दीजिये, लड्डू खुश्क हो जायेगे, लड्डू को कन्टेनर में भर कर रख लीजिये, और 2-3 महिने तक खाते रहिये.
सुझाव:
सोंठ के लड्डू मावा डालकर बनाये जाते हैं, लेकिन मावा मिलाकर बनाये गये लड्डू की शैल्फ लाइफ कम होती है.
गुड़ की जगह पिसी चीनी, तगार या बूरा डालकर भी बना सकते हैं, मीठा अपने पसन्द के अनुसार कम ज्यादा कर सकते हैं.
लड्डू में मेवा अपनी पसन्द के अनुसार कम या ज्यादा कर सकते हैं, जो मेवा आप पसन्द करते हैं वह ले सकते हैं, जो मेवा पसन्द न हो उसे हटा सकते हैं.
सत्तू के लड्डू -
सत्तू से हम पेय, परांठे, कचौरी तो बनाते ही हैं लेकिन सत्तू से स्वादिष्ट लड्डू भी बहुत आसानी से और बहुत जल्दी बनकर तैयार हो जाते हैं. किसी त्यौहार पर यदि आपको तुरत फुरत मिठाई बनानी हो तो सत्तू के लड्डू बना लीजिये. सभी को बहुत पसंद आयेगे.
आवश्यक सामग्री-
सत्तू - 2 कप (250 ग्राम)
बूरा या चीनी पाउडर- 1.5 कप (200 - 250 ग्राम)
घी - 1 कप (200 ग्राम)
छोटी इलायची - 7-8
पिस्ते - 10-12
काजू - 20-25
बादाम - 20-25
विधि -
कढा़ई में घी डालकर पिघला लीजिए, घी पिघलने के बाद सत्तू डालकर अच्छी तरह मिक्स करते हुए, लगातार चलाते हुये, मीडियम और धीमी आग पर हल्का सा भून लीजिए. सत्तू 5-6 मिनिट में अच्छी महक के साथ भुन कर तैयार हो जाता है, गैस बंद कर दीजिए और मिश्रण को अलग प्याले में निकाल लीजिए, ताकि ये जल्दी से ठंडा हो जाय., अगर भुने हुये सत्तू को बहुत जल्दी ठंडा करना हो तो इसे फ्रिज में रखकर ठंडा किया जा सकता है.
काजू, पिस्ते और बादाम को छोटे-छोटे टुकडों में काट कर तैयार कर लीजिए. इलायची को छील कर पाउडर बना लीजिए.
सत्तू के ठंडा होने पर इसमें बूरा, कटे हुए काजू, बादाम, पिस्ते(थोडे़ से पिस्ते बचा कर रख लें) और इलायची पाउडर डाल दीजिए और सभी चिजों को अच्छी तरह मिलाकर मिक्स करके तैयार कर लीजिए. लड्डू बनाने के लिये मिश्रण तैयार है.
मिश्रण को थोड़ा-थोड़ा हाथ में लीजिये और दबा दबा कर अपने मन पसन्द आकार के लड्डू बना कर थाली में रखिये. सारे मिश्रण से लड्डू बना कर थाली में रख लीजिये. सभी लड्डूओं पर पिस्ते के टुकडे़ सजाएं.
बहुत ही अच्छे और स्वादिष्ट सत्तू के लड्डू बनकर तैयार, परोसिये और खाइये. बचे हुये लड्डू कन्टेनर में भर कर रख लीजिये और 2 महिने तक खाते रहिये.
सुझाव :
गरम सत्तू में बूरा नहीं मिलाएं क्योंकि ऎसा करने से मिश्रण बहुत पतला हो जाता है और लड्डू बनाना बांधना मुश्किल हो जाता है.

पनीर कोल्हापुरी - 


कुटे मसाले, नारियल की खास स्पाइसी ग्रेवी में नरम ताजे पनीर से बनाया पनीर कोल्हापुरी चटपटी सब्जी है. इसे हम चपाती या चावल दोनों के साथ परोस सकते हैं.
आवश्यक सामग्री -
पनीर - 250 ग्राम
टमाटर - 4 (250 ग्राम)
हरी मिर्च - 2
अदरक - 1 इंच टुकड़ा
काजू - ¼ कप
सूखा नारियल - ⅓ कप(कद्दूकस किया हुआ)
तेल - 2-3 टेबल स्पून
हरा धनिया - 2-3 टेबल स्पून
तिल - 2 छोटे चम्मच
जीरा - 1.5 छोटा चम्मच
सौंफ - 1 छोटी चम्मच
साबुत गरम मसाला - 1 इंच दालचीनी,1 बडी़ इलायची, 2 छोटी इलायची, 4 लौंग, 8-10 काली मिर्च.
साबुत लाल मिर्च - 2
नमक - 1 छोटी चम्मच या स्वादानुसार
लाल मिर्च पाउडर - ½ छोटी चम्मच
हल्दी पाउडर - ¼ छोटी चम्मच
हींग - 1 पिंच
धनियां पाउडर - 1 छोटी चम्मच
विधि-
टमाटर, हरी मिर्च, अदरक और काजू को मिक्सी में पीस कर पेस्ट बना लीजिये.
कोल्हापुरी मसाला: कोल्हापुरी मसाला बनाने के लिए पैन को गरम कीजिये, तिल, 1 छोटी चम्मच जीरा, सौंफ, दालचीनी, लोंग, काली मिर्च, छोटी इलाइची और बड़ी इलाइची को छील कर डालिये और मसाले को लगातार चलाते हुये हल्का सा भून लीजिये, अब नारियल डालें, मसाले को हल्का सा और भून लीजिए. भूने मसाले को प्लेट में निकाल लीजिए और ठंडा होने दीजिए, फिर इसे मिक्सी में दरदरा पीस कर तैयार कर लीजिए.
सब्जी के लिए ग्रेवी बनायें:

पैन को गरम कीजिये, तेल डाल दीजिये, गरम होने पर तेल में जीरा डाल कर भूनिये, इसमें हींग डालें, हल्दी पाउडर, धनियां पाउडर डालकर हल्का सा भूनें. अब इसमें साबुत लाल मिर्च, टमाटर, हरी मिर्च, अदरक और काजू का पेस्ट डालिये और चमचे से चला कर मसाले को तब तक भूनिये जब तक मसाले से तेल अलग होते न दिखाई देने लगे. मसाले को भूनते समय गैस धीमी और मिडियम रखिये.
जब तक मसाला भूनता है तब तक पनीर काट कर तैयार कर लीजिये. पनीर को 1-1 इंच के चौकोर टुकड़ों में काट लीजिये.
मसाला थोडा़ भून जाने पर इसमें लाल मिर्च पाउडर डाल दीजिए, और तैयार कोल्हापुरी मसाला भी डाल दीजिए, और मिक्स करते हुये, भूनिये. मसाले में से तेल अलग होने लगे और अच्छी महक आने लगे तब आधा कप पानी डाल कर थोडा़ सा पकने दीजिए.
ग्रेवी में उबाल आने पर नमक और थोडा़ सा कटा हरा धनिया डाल कर मिक्स कर लीजिए, पनीर के टुकडे़ डाल दीजिए और 2-3 मिनिट के लिए धीमी आग पर ढककर पकने दीजिए.
पनीर कोल्हापुरी बहुत ही अच्छी सब्जी़ बनकर तैयार है, इसे प्याले में निकाल लीजिए, और परांठे, चपाती, नान, या चावल किसी के भी साथ परोसिये और खाइये.
सुझाव:
पनीर कोल्हापुरी के लिये, घर में ताजा पनीर बनायें, इसका स्वाद बहुत अच्छा आयेगा.
3-4 लोगों के लिये
समय - 40 मिनिट
बटर नान-
रोजाना के परांठे, चपाती से कुछ अलग यदि नान खाने में बने हो तो सभी बहुत खुश होगे. इसी लिये आइये शाम के खाने आज हम नान बनाते हैं.
आवश्यक सामग्री-
मैदा - 200 ग्राम ( 2 कप ) + 100 ग्राम मैदा परोथन के लिये
ताजा दही -  (1/2 कप)
खाने का सोडा - 1/4 छोटी चम्मच
चीनी - आधा छोटी चम्मच
नमक - 1/2 छोटी चम्मच ( स्वादानुसार )
तेल - 2 टेबिल स्पून
नान बनाने के लिये बटर या घी
विधि -
मैदा को किसी बर्तन में छान कर निकालिये.  मैदा के बीच में हाथ से थोडी जगह बना लीजिये.  इस बनी हुई जगह में दही, बेकिंग सोडा, नमक, चीनी और तेल डाल कर हाथ से मल कर सारी चीजों को अच्छी तरह मिला लीजिये, अब मिश्रण को मैदा में मिला लीजिये.
गुनगुना पानी की सहायता से मैदा को अच्छी तरह मल मल कर, चपाती के आटे जैसा नरम गूंथिये. आप स्वयं ही महसूस करेंगे कि मैदा का गूंथा हुआ आटा कितना हल्का और चिकना हो गया है. आटे को 2 -4 घंटे के लिये ढककर गरम जगह पर रख दीजिये, आटा फूल कर तैयार हो जाता है.
तंदूर चालू कीजिये.
मैदा से करीब 8- 10 बराबर के गोले बनाइये.  एक आटे का गोला लेकर परोथन लगाकर 8-10 ईच के व्यास में गोल बेलिये और उसके ऊपर बटर या घी चारों तरफ लगाइये.  बेले हुये नान को डबल अर्धगोलाकार आकार में मोड़ लीजिये. इस मोड़े हुये नान के ऊपर फिर से घी लगाइये, और फिर से डबल मोड़ लीजिये यह त्रिभुज के आकार को परोथन से लपेटिये और परांठे की तरह से तीनों तरफ पतला बेल कर तैयार कीजिये.
इस बेले गये नान को गरम तंदूर में सेकने के लिये रखिये, ब्राउन होने पर पलटिये  और दोनों तरफ ब्राउन होने तक सेक लीजिये. बटर नान तैयार है. बटर नान को प्लेट में निकाल कर घी लगायें, और नान कटर से 2 भागों में काट कर परोसें. ( इसी तरह सारे नान बना लें.) बटर नान तैयार हैं.
तवा पर नान बनाने के लिये: नान को बेलिये, बेले हुये नान के ऊपर की ओर थोड़ा सा 2 छोटी चम्मच पानी डाल कर, चारों ओर फैला दीजिये, नान को हाथ में उठाइये और पानी वाली सतह को तवे की ओर करते हुये नान को गरम तवे पर डालिये, नान के तवे पर सिकने पर नान के ऊपर बबल दिखाई देंगे, नान को तवे से उठाकर चिमटे से पकड़ कर गैस पर सीधे घुमाते हुये, ब्राउन चित्ती आने तक सेकिये या तवे के हैंडल को पकड़ कर, उलटा कीजिये, गैस की फ्लेम के एकदम ऊपर करके, तवे पर चिपके ही चिपके नान को ब्राउन चित्ती आने तक सेक कर, तवे से निकाल लीजिये. आप तवे पर नान बनाइये और बताइये कि नान कैसे बने.
गरमा गरम बटर नान दाल मखानी, अरहर की दाल और शाही पनीर के साथ परोसिये और खाइये.
समय : 35 मिनिट
3-4 सदस्यों के लिये
सोया चाप करी -
प्रोटीन से भरपूर सोया चाप से बनी सोया चाप करी खाने और दिखने दोनों में मजेदार है. दिल्ली/एनसीआर में तो यह बहुत पसंद की जाती है.
आवश्यक सामग्री -
सोया चाप - 3-4 (250 ग्राम)
टमाटर - 3 (250 ग्राम)
अदरक - 1 इंच
हरी मिर्च - 1
क्रीम - 100 ग्राम
तेल - 3-4 टेबल स्पून
हरा धनिया - 2-3 टेबल स्पून (बारीक कटा हुआ)
हींग - 1 पिंच
जीरा - 1/4 छोटी चम्मच
हल्दी पाउडर - 1/4 छोटी चम्मच
लाल मिर्च - 1/4 छोटी चम्मच
गरम मसाला - 1/4 छोटी चम्मच से कम
धनिया पाउडर - 1 छोटी चम्मच ऊपर तक भरी हुई
कसूरी मेथी - 1 छोटी चम्मच ऊपर तक भरी हुई
साबुत मसाले - बडी़ इलायची-1, दालचीनी-1, लौंग-2, काली मिर्च-6-7
नमक-1 छोटी चम्मच या स्वादानुसार
विधि -
सोया चाप को 1 से 1.5 इंच के टुकडों में काट लीजिए. पैन में तेल गर्म कीजिए. गरम तेल में चाप डालकर, चाप के टुकड़े दोंनो ओर से हल्का ब्राउन होने तक, तल कर, प्लेट में निकाल कर रख लीजिये.
टमाटर-अदरक-हरी मिर्च का पेस्ट बना लीजिए. पैन के बचे तेल में जीरा डाल दीजिए, जीरा भुनने के बाद हींग, हल्दी पाउडर और धनियां पाउडर, कसूरी मेथी और साबुत गरम मसाले, काली मिर्च, दाल चीनी, लोंग और इलाइची को छील कर डाल दीजिए. मसाले को हल्का सा भूनिये, अब टमाटर-अदरक-हरी मिर्च का पेस्ट डालिये और लाल मिर्च पाउडर डाल कर, मसाले को तब तक भूनिये जब तक कि मसाले के ऊपर तेल न तैरने लगे.
मसाले में से तेल अलग होने पर इसमें गरम मसाला डालिये और क्रीम डालकर लगातार चलाते हुए मसाले में उबाल आने तक पकाएं. मसाले में उबाल आने पर इसमें 1/2 कप पानी डालिये, और इसे लगातार चलाते हुए एक बार फिर से उबाल दिलवाएं और थोड़ा सा हरा धनियां डालकर ग्रेवी में मिला दीजिये.
ग्रेवी में उबाल आने पर इसमें नमक डाल दीजिए और सोया चाप डाल कर मिक्स कर लीजिए. धीमी आंच पर सब्जी़ को ढककर 4-5 मिनिट के लिए पकने दीजिए.
सुझाव :-
मसाले में क्रीम डालने पर इसे लगातार चलाते हुए, ग्रेवी में फिर से उबाल आने तक पकाएं क्योंकि ऎसा करने से क्रीम फटती नहीं है. साथ ही इसमें नमक भी बाद में डालें क्योंकि अगर नमक क्रीम के साथ डालें तो भी क्रीम के फटने का डर बना रहता है.
समय - 30 मिनिट
4 सदस्यों के लिये
पालक मशरूम -

स्वादिष्ट और बहुत जल्दी बनने वाली सब्जी पालक मशरूम को अपने मन पसन्द ग्रेवी, नारियल, काजू, खसखस या बेसन और टमाटर किसी भी ग्रेवी में बनाया जा सकता है.
आवश्यक सामग्री -
पालक - 350 ग्राम
मशरूम - 6-8
टमाटर - 2
हरी मिर्च - 1-2
अदरक - 1/2 - इंच टुकड़ा
ताजा हरा नारियल - छोटे टुकड़े आधा कप
हरा धनियां - 2 टेबल स्पून बारीक कटा हुआ
नमक - 3/4 छोटी चम्मच (स्वादानुसार)
धनियां पाउडर - 1 छोटी चम्मच
गरम मसाला - 1/4 छोटी चम्मच
तेल - 2 टेबल स्पून
हींग - 1 पिंच
जीरा - 1/4 छोटी चम्मच
लाल मिर्च - 1/4 छोटी चम्मच
हल्दी पाउडर - 1/4 छोटी चम्मच
क्रीम - 2 टेबल स्पून
विधि:-
पालक को पत्ते तोड़ कर मोटे डंठल हटा कर साफ कर लीजिये, पत्तो को 2 बार डूबते पानी में धोइये, छलनी में रखकर पानी सूखने तक सुखा लीजिये. पानी सूखने पर पालक के पत्ते बारीक काट लीजिये.
मशरूम को कपड़े से पोंछ कर साफ कर लीजिये और मशरूम के पतले पतले टुकड़े काट लीजिये.  टमाटर, हरी मिर्च, अदरक और नारियल के टुकड़े मिक्सर से बारीक पीस कर पेस्ट बना लीजिये.
कढ़ाई में तेल डालकर गरम कीजिये, गरम तेल में हींग और जीरा डालिये, जीरा भुनने पर हल्दी पाउडर डालिये और अब पिसा मसाला, धनियां पाउडर और लाल मिर्च पाउडर डालिये, मसाले को थोड़ी थोड़ी देर में चलाते हुये तब तक भूनिये जब तक कि मसाले पर तेल न तैरने लगे.
मसाले में कटा हुआ पालक डालिये, मिक्स कीजिये, 2-3 टेबल स्पून पानी डालिये और 2-3 मिनिट तक ढककर मीडियम आग पर पकाइये, ढक्कन खोलिये, चमचे से चलाइये और मशरूम के टुकड़े नमक, गरम मसाला और हरा धनियां डालकर मिलाइये, अगर पानी कम हो रहा है, तब पानी अपनी पसन्द के अनुसार जितनी पतली सब्जी रखनी है, थोड़ा पानी और डाल सकते हैं, सब्जी को ढककर मिडियम आग पर और 2 मिनिट तक पकाइये.
पालक मशरूम की सब्जी बनकर तैयार है, सब्जी को प्याले में निकालिये और चपाती, परांठे, नान और चावल के साथ परोसिये और खाइये.
सुझाव:
पालक मशरूम नारियल की ग्रेवी में बना है, यदि आप नारियल कम पसन्द करते हैं, तो 2 टेबल स्पून लेवल करके बेसन रोस्ट करके, मसाला भूनने के बाद डाल कर मिक्स कीजिये, और सब्जी बना लीजिये.
टमाटर, हरी मिर्च और अदरक मसाले के साथ भी 2 टेबल स्पून बेसन डालकर, भूनकर बेसन की ग्रेवी में ही पालक बनाइये, और अधिक स्वाद के लिये क्रीम डालकर मिला दीजिये.
पालक मशरूम को प्याज और लहसन के साथ बनाने के लिये, 1 प्याज बारीक काट लीजिये, 4 लहसन की कली बारीक काट लीजिये, हींग जीरा भूनने के बाद, प्याज और लहसन डालकर प्याज को गुलाबी होने तक भून लीजिये और अब टमाटर, हरी मिर्च, अदरक का पिसा मसाला डालिये, भूनिये और दिये हुये तरीके से पालक मशरूम बना लीजिये.
अरबी का झोल -

अरबी को कई तरह से बनाते हैं लेकिन फ्राइड मखाने को मिलाकर बनाया गया रसेदार अरबी का झोल का कोई जबाव नहीं. ये ब्रजभूमि यानी कि आगरा मथुरा क्षेत्र में तो बहुत ही पसंद किया जाता है.
आवश्यक सामग्री
अरबी - 5 (200 ग्राम)
टमाटर - 3 (200 ग्राम)
अदरक - 1 इंच
हरी मिर्च - 1
मखाने - 10-12
देसी घी या रिफाइन्ड तेल - 4 टेबल स्पून
हरा धनिया - 2-3 टेबल स्पून (बारीक कटा हुआ)
अजवायन - ¼ छोटी चम्मच
हींग - 1 पिंच
हल्दी पाउडर - ¼ छोटी चम्मच
धनिया पाउडर - 1 छोटी चम्मच
कसूरी मेथी - 1 टेबल स्पून
गरम मसाला - ¼ छोटी चम्मच
लाल मिर्च पाउडर - ¼ टेबल स्पून
नमक - 1 छोटी चम्मच या स्वादानुसार
विधि -
सबसे पहले अरबी को छीलकर धोकर तैयार कर लीजिये, अब इसे 1/4 इंच मोटे, गोल टुकडो़ं में पतले काट लीजिये.
टमाटर धोइये, बड़े टुकड़े में काटिये. हरी मिर्च के डंठल तोड़ कर धो लीजिये. अदरक छीलिये, धोइये, बड़े टुकड़ों में काटिये, सभी को मिक्सर में डालकर बारीक पेस्ट बना लीजिये.
पैन में घी डालकर, गरम कीजिये. गरम घी में अरबी के टुकडे़ डाल दीजिए और मीडियम आंच पर दोनों ओर से हल्की ब्राउन होने तक तल लीजिए. तल जाने पर इन्हैं निकाल कर प्लेट में रखिये, सारी अरबी इसी तरह तल कर निकाल लीजिये. अब घी में मखाने भी हल्का ब्राउन होने तक तल कर अलग प्याली में निकाल लीजिए.
गैस बिल्कुल धीमी करके, बचे हुए घी में अजवायन डालिये. अजवायन तड़कने के बाद, हींग, हल्दी पाउडर, धनिया पाउडर, कसूरी मेथी डालकर हल्का सा भून लीजिए.
इसके बाद इसमें टमाटर-मिर्च-अदरक का पेस्ट डाल दीजिए. लाल मिर्च पाउडर डालें और मसाले को लगातार चलाते हुए तब तक भूनिये जब तक कि मसाले के ऊपर तेल न तैरने लगे
मसाले अच्छे से भून जाने के बाद इसमें 2 कप (500-600 मि.ली.) पानी डाल दीजिए अब इसमें नमक, गरम मसाला और तली हुई अरबी डाल दीजिए. झोल को उबालें और उबाल आने के बाद , धीमी आग में 3- 4 मिनिट तक पकने दीजिए.
अब इसमें मखाने और थोडा़ सा हरा धनिया डाल दीजिए, अच्छी तरह से मिक्स करें. अरबी झोल सब्जी बनकर तैयार है इसे प्याले में निकाल लीजिए. सब्जी के ऊपर थोडा़ सा घी डाल दीजिए, इससे झोल और भी स्वादिष्ट लगता है. हरे धनिए से गार्निश कीजिए. अरबी के झोल को पूरी और परांठे के साथ परोसिये और खाइये.
मक्का की महेरी -

बाजरे की रोटी के साथ मक्का की महेरी, राजस्थान और आगरा मथुरा क्षेत्र के परम्परागत खानपान में से एक शायद अब उतने प्रचलित नहीं हैं लेकिन बचपन में यदि आपने ये खाये हैं तो इनका न भूलने वाला स्वाद आपको अवश्य याद होगा. छाछ और मक्के के आटे से बनी मक्का की महेरी सर्दियों में बनाई जाती है. इसे मक्का की राबड़ी भी कहते है
आवश्यक सामग्री -
मठ्ठा - 1 लीटर
मक्का का आटा - ½ कप (60 ग्राम)
तेल - 2 छोटी चम्मच
हरा धनिया - 2-3 टेबल स्पून (बारीक कटा हुआ)
जीरा - ½ छोटी चम्मच
हींग - 1 पिंच
नमक - 1 छोटी चम्मच या स्वादानुसार
विधि -
मक्के के आटे को एक बर्तन में डाल दीजिए और इसमें मठ्ठा डाल कर इसे अच्छी तरह मिलाते हुए, गुठलियां खत्म होने तक घोल बना कर तैयार कर लीजिए.
घोल को पकने के लिये गैस पर रख दीजिये., महेरी को तेज आंच पर लगातार चलाते हुए पकाइये, इसमें उबाल आने पर गैस को धीमा कर दीजिए. धीमी और मीडियम आंच पर तब तक पकाएं जब तक की ये थोडी़ गाढी़ न हो जाए, और हर 2 मिनिट में महेरी को चलाते रहें.
महेरी को पकने में लगभग 25 - 30 मिनिट के करीब समय लग जाता है. महेरी के गाढा़ होने पर इसमें नमक डाल कर मिक्स कीजिए और गैस बंद कर दीजिए. महेरी को प्याले में निकाल लीजिए.
अब इसमें तड़का लगाएं, इसके लिए पैन में तेल डालकर गर्म कीजिए, तेल गरम होने पर इसमें जीरा और हींग डाल कर थोडा़ सा भून लें और तड़के को महेरी के ऊपर डालकर मिक्स कर दीजिए. ऊपर से हरा धनिया डाल कर सजाइये.
महेरी तैयार है. गरमा गरम महेरी को ऎसे ही खाया जा सकता है या फिर हरे धनिये की चटनी, मिर्च के अचार, दही या मठ्ठा के भी साथ भी परोस सकते हैं.
सुझाव:
महेरी बनाने के लिये ताजा दही या मठ्ठा लीजिये, दही ले रहे हैं तब 400 मिली, दही को मथ कर, 600 मिली. पानी मिलाकर मठ्ठा बना लीजिये.
महेरी को उबाल आने तक, तेज आग पर लगातार चलाते हुये पकाइये.
3-4 सदस्यों के लिये
समय 35 मिनिट
भिन्डी अनारदाना -

भिन्डी हम कई तरह से बनाई जाती है जैसे कुरकुरी भिन्डी, भरवां भिन्डी, बेसनी भिन्डी, भिन्डी नारियल मसाला. लेकिन आजअनारदाना के खास स्वाद को मिलाकर नरम भिन्डी से बना भिन्डी अनारदाना बनाकर देखिये.
आवश्यक सामग्री -
भिन्डी - 250 ग्राम (छोटी, नरम वाली)
तेल - 3-4 टेबल स्पून
जीरा - 1/2 छोटी चम्मच
अनार दाना - 1/2 छोटी चम्मच
अमचूर पाउडर - 1/4 छोटी चम्मच
लाल मिर्च पाउडर - 1/4 छोटी चम्मच
हल्दी पाउडर - 1/4 छोटी चम्मच
हरी मिर्च - 2 बारीक कटी हुई
अदरक - 1 इंच टुकड़ा कद्दूकस किया हुआ
धनियां पाउडर - 1 छोटी चम्मच
नमक - आधा छोटी चम्मच (स्वादानुसार)
विधि -
भिन्डी को अच्छी तरह धोकर छलनी में रखकर पानी सूखने तक सुखा लीजिये या कपड़े से पोंछ लीजिये. भिन्डी को दोनों तरफ से डंठल काट कर हटा दीजिये. भिन्डी के बीच से इस तरह से लम्बाई में कट लगाइये कि भिन्डी दूसरी ओर से जुड़ी रहे, सारी भिन्डी इसी तरह से काट कर तैयार कर लीजिये.
पैन में तेल डालकर गरम कीजिये, तेल गरम होने पर हींग जीरा डालिये, जीरा भुनने के बाद हरी मिर्च, अदरक पेस्ट डालिये, मसाले को थोड़ा सा भूनिये, हल्दी पाउडर और धनियां पाउडर डालकर मसाले को थोड़ा सा भूनिये, भिन्डी डालिये, अमचूर पाउडर, नमक और लाल मिर्च डालिये, भिन्डी को लगातार चलाते हुये तब तक पकाइये जब तक कि भिन्डी के ऊपर मसाले की कोटिंग न आ जायें.
भिन्डी को ढककर 2 मिनिट तक मीडियम आग पर पकाइये. भिन्डी को चैक कर लीजिये, और भिन्डी नरम न हो तो और ढककर 1-2 मिनिट तक भिन्डी को धीमी आग पर पकाइये, भिन्डी को खोलिये, भिन्डी नरम हो गई हैं, भिन्डी में अनार दाना डाल कर मिलाइये और चलाते हुये 1-2 मिनिट खुले ही पकाइये, हरा धनियां भी डालकर मिला दीजिये. भिन्डी अनार दाना बन कर तैयार हैं.
भिन्डी अनार दाना को चपाती, परांठे, पूरी या चावल के साथ परोसिये और खाइये.
सुझाव
भिन्डी को धोकर सुखा लीजिये या कपड़े से पोंछ लीजिये, गीली भिन्डी काट कर बनाने से भिन्डी लसलसी बन जाती है.
भिन्डी कढ़ाई में डालने के बाद अमचूर पाउडर तुरन्त डाल दीजिये, इससे भी भिन्डी लसलसी नहीं बनती.
अचारी गोभी -

अचारी गोभी एकदम अलग स्वाद में बहुत ही स्वादिष्ट सब्जी है, गोभी पसन्द करने वालों के लिये तो ये और भी अधिक पसंद आने वाली सब्जी है.
आवश्यक सामग्री -
गोभी - 500 ग्राम
सरसों का तेल - 2-3 टेबल स्पून
हरा धनिया - 2 -3 टेबल स्पून, बारीक कटा हुआ
हरी मिर्च - 2 (बारीक कटी हुई)
अदरक - 1 इंच टुकडा़ (कद्दूकस किया हुआ)
हींग - 1 पिंच
जीरा - ½ छोटी चम्मच
सरसों के दाने - ½ छोटी चम्मच
मेथी दाना- ¼ छोटी चम्मच
हल्दी पाउडर - ¼ छोटी चम्मच
लाल मिर्च पाउडर - ¼ छोटी चम्मच
गरम मसाला - ¼ छोटी चम्मच
धनिया पाउडर - 1 छोटी चम्मच
सौंफ पाउडर - 1 छोटी चम्मच
अमचूर - 1/2 छोटी चम्मच
नमक - 1 छोटी चम्मच या स्वादानुसार
विधि -
गोभी के डंठल हटा कर, टुकड़े में काट कर, गोभी के टुकड़ों को गरम पानी में नमक डाल कर 5 मिनिट के लिये रख दीजिये और धो लीजिये, नमक के गरम पानी में गोभी को डालकर 5-10 मिनिट तक रख देने से इसके बर्षा के समय में आये हुये वैक्टीरिया खतम हो जाते हैं. नमक के पानी से गोभी के टुकड़ों को निकाल कर अच्छी तरह धो लीजिये.
मेथी दाना, जीरा, सरसों के दानों को दरदरा कूट कर तैयार कर लीजिए
पैन में तेल डाल कर गरम कीजिये, गरम तेल में कूटे हुए मसाले डाल दीजिए और हींग डालकर मसाले को हल्का सा भून लीजिए. अब इसमें कटी हुई हरी मिर्च, अदरक का पेस्ट, हल्दी डालकर, थोडा़ सा भूनने पर, धुले हुये गोभी के टुकड़े डाल कर अच्छे से मिक्स कर लीजिए. इसमें नमक, लाल मिर्च पाउडर, धनियां पाउडर और सोंफ पाउडर डाल कर मिला लीजिए.
गोभी को चमचे से चलाकर 2-3 मिनिट तक मसाले के साथ भूनिये.
अब इस सब्जी में 2-3 टेबल स्पून पानी डाल कर, ढक कर, धीमी गैस पर 4-5 मिनिट तक पकने दीजिये. और चैक कीजिए. ढक्कन को खोलिये, सब्जी को चमचे से चलाइये. सब्जी को ढक कर फिर से 4 म-5 मिनिट के लिये रख दीजिये, गोभी के हल्के से सोफ्ट होने पर, सब्जी बन कर तैयार है. सब्जी में अमचूर पाउडर, गरम मसाला और थोडा़ सा हरा धनिया डाल कर मिला दीजिये. आपकी अचारी गोभी की सब्जी तैयार है
सब्जी को प्याले में निकाल लीजिये. सब्जी में ऊपर से हरा धनियां डाल कर सजाइये. अचारी गोभी को परांठे, नान, चपाती या पूरी किसी के भी साथ परोसिये और खाइये.
4-5 सदस्यों के लिए
समय - 25 मिनट
चने का सूखा साग -

चने का साग बाजरा या मक्का का आटा डालकर या मूंगदाल के साथ बनाया जाता ही है, इसकी आलू मिलाकर भुजिया भी बनाई जाती है और इस चने के सूखे साग का स्वाद बहुत ही अच्छा होता है.
आवश्यक सामग्री -
चने का साग - 250 ग्राम
आलू - 4 (200 ग्राम)
हरी मिर्च - 2
तेल - 2 टेबल स्पून
हींग - 2 पिंच
जीरा - ½ छोटी चम्मच
लाल मिर्च - ½ छोटी चम्मच
नमक - 3/4 छोटी चम्मच या स्वादानुसार
विधि -
चने के साग को साफ कीजिये, पत्त्तों को साफ पानी से 2 बार धो कर अतिरिक्त पानी निकाल दीजिये. अब इन पत्तों को बारीक काट लीजिये. आलूओं को भी छीलकर धो लीजिए और काट कर तैयार कर लीजिए.
कढ़ाई में तेल डालकर गरम कीजिये, गरम तेल में जीरा डालकर भूनें, जीरा भूनने पर इसमें हरी मिर्च, हींग, आलू और नमक डालकर अच्छे से मिक्स कीजिए ढककर के धीमी आंच पर 2-3 मिनट के लिए पकने दीजिए.
आलू के हल्के से पकने पर इसमें चने का साग और लाल मिर्च डालकर सभी चिजों को अच्छे से मिक्स करते हुए 1-2 मिनिट के लिए भून लीजिए. अब सब्जी में 2-3 टेबल स्पून पानी डाल कर सब्जी को ढककर के 3-4 मिनिट तक पकने दीजिए और फिर चैक कीजिए.
सब्जी को मिक्स कीजिए और फिर से थोडा़ सा पानी डालकर धीमी आग पर 4 मिनिट और पकने दीजिए, सब्जी बनकर के तैयार है. सब्जी को प्याले में निकाल लीजिए. चने के सूखे साग आलू की सब्जी को आप चपाती या परांठे किसी के भी साथ परोसिये और इसके स्वाद का आनंद लीजिए.
4- 5 सदस्यों के लिये
समय 40 मिनट
कटहल भरवां मसाला परांठा -

परांठों को खाने का मज़ा ही अलग होता है. तो 
क्यों ना आज कटहल के भरवां मसाला परांठे बनाए जाएं.
आवश्यक सामग्री -
गेहूं का आटा- 2 कप (300 ग्राम)
कटहल- 250 ग्राम
बेसन- 2 टेबल स्पून
तेल- 3 से 4 टेबल स्पून
हरा धनिया- 2 से 3 टेबल स्पून (बारीक कटा हुआ)
अदरक का पेस्ट- 1 छोटी चम्मच
हरी मिर्च- 2 (बारीक कटी हुई)
गरम मसाला- ¼ छोटी चम्मच
जीरा पाउडर- ½ छोटी चम्मच
धनिया पाउडर- 1 छोटी चम्मच
हल्दी पाउडर- ⅓ छोटी चम्मच
अमचूर- ⅓ छोटी चम्मच
नमक- 1.25 छोटी चम्मच या स्वादानुसार

विधि -
कटहल को पानी भरे प्याले में डालकर धो लीजिए. इसके बाद, कटहल को छोटा-छोटा काट लीजिए. कटहल को काटते समय कटहल के बीज के छिलकों को ज़रूर निकाल दीजिए.
कटहल उबालिए-
कटहल को उबालने के लिए कुकर में डालिए. साथ ही ¼ कप पानी डाल दीजिए और कुकर को बंद करके 1 सीटी आने तक कटहल उबाल लीजिए. कुकर में 1 सीटी आने के बाद, गैस धीमी कर दीजिए और कटहल को 3 से 4 मिनिट तक उबलने दीजिए.
4 मिनिट बाद, गैस बंद कर दीजिए और कुकर का प्रैशर अपने आप खत्म होने दीजिए. इसके बाद, कटहल को दबाकर चैक कर लीजिए, यह अच्छे से नरम हो गया है. कटहल को छलनी में डाल दीजिए और कटहल को दबाकर इसमें से पानी निचोड़ लीजिए. कटहल को प्याले में पलटिए और मैशर से अच्छे से बारीक मैश कर लीजिए.
नरम आटा गूंथिए-
एक बड़े बर्तन में गेहूं का आटा लीजिए. इसमें 2 छोटी चम्मच तेल डालकर मिक्स कर लीजिए और आटे में थोड़ा-थोड़ा पानी डालते हुए नरम आटा गूंथ लीजिए. इतना आटा लगाने में 1 कप से थोड़ा कम पानी लगता है. आटे को 10 मिनिट के लिए ढककर रख दीजिए जिससे आटा सैट होकर तैयार हो जाए.
स्टफिंग तैयार कीजिए
पैन गरम करके उसमें 2 छोटी चम्मच तेल डाल दीजिए. तेल में बेसन डालिए और इसे लगातार चलाते हुए हल्का सा रंग बदलने और अच्छी सी महक आने तक भून लीजिए.
बेसन भुनने के बाद, इसमें जीरा पाउडर डालकर मिक्स कर दीजिए और गैस बिल्कुल धीमी कर दीजिए ताकि मसाले जले ना. मसाले को लगातार चलाते हुए धनिया पाउडर, हल्दी पाउडर, हरी मिर्च और अदरक का पेस्ट डाल दीजिए. मसाले को अच्छे से मिलाते हुए हल्का सा भून लीजिए.
फिर, इसमें मैश किया हुआ कटहल, नमक, गरम मसाला और अमचूर डाल दीजिए. सारी चीजों को अच्छे तरीके से मिक्स करते हुए कटहल को मध्यम आंच पर भूनिए. इसमें थोड़ा सा हरा धनिया डालकर मिला दीजिए. स्टफिंग तैयार है, इसे एक प्याले में निकाल लीजिए और थोड़ा सा ठंडा होना दीजिए.
परांठा बेलिए-
आटा सैट होने पर, हाथ पर थोड़ा सा तेल लेकर आटे को मसलकर चिकना कर लीजिए. आटे से थोड़ा सा आटा तोड़कर गोल लोई बना लीजिए. इसके बाद इसे दबाकर पेड़े जैसा बना लीजिए और सूखे आटे में लपेटकर चकले पर रखिए. इसे 3 से 4 इंच के व्यास में बेल लीजिए और इस पर थोड़ा सा तेल लगा दीजिए. इस पर 1.5 से 2 चम्मच स्टफिंग रख दीजिए. परांठे को चारों तरफ से उठाकर स्टफिंग को अच्छे से बंद कर दीजिए और उंगलियों की सहायता से इसे दबा लीजिए ताकि स्टफिंग चारों ओर फैल जाए.
स्टफ्ड लोई को उठाइए और सूखे आटे में लपेटकर चकले पर रखिए तथा 6 से 7 इंच व्यास का थोड़ा मोटा परांठा बेल लीजिए.
परांठा सेकिए-
तवे को गरम कर लीजिए. तवे पर थोड़ा सा तेल डालकर चारों ओर फैला दीजिए. परांठे को तवे पर डाल दीजिए और नीचे की ओर से हल्का सा सेक लीजिए. जैसे ही परांठा ऊपर से हल्का सा डार्क दिखने लगे, वैसे ही इसे पलट दीजिए और परांठे को दूसरी तरफ भी हल्की सी चित्ती आने तक सेक लीजिए.
परांठे के इस तरफ थोड़ा सा तेल डालकर चारों तरफ अच्छी तरह से फैला दीजिए तथा परांठे को पलटकर इस साइड भी थोड़ा सा तेल चारों ओर लगा दीजिए. परांठे को किसी भी कलछी से हल्का सा दबा-दबाकर धीमी आग पर दोनों ओर गोल्डन ब्राउन होने तक सेक लीजिए.
सिके हुए परांठे को तवे से उतारकर किसी प्लेट पर रखी प्याली पर रख दीजिए और सारे पराठे इसी तरीके से सेककर तैयार कर लीजिए. इतने आटे में 4 से 5 पराठे बन जाते हैं.
कटहल के लज़ीज़ पराठे खाने के लिए तैयार हैं. कटहल के पराठों को हरे धनिये की चटनी, दही या अपनी पसंद की किसी भी सब्जी के साथ परोसिए.
सुझाव
कच्चा यानिकि सफेद कटहल लें. पीला कटहल पका हुआ होता है, उसे ना लें.
सीधे प्लेट में पराठा रखने से पराठा नीचे से गिलगिला हो जाता है. प्याली के ऊपर पराठा रखने से इस पर नीचे से हवा लगती रहती है और यह क्रिस्पी बना रहता है.
कच्चे आम का चटपटा पापड़ - आपकी जुबां को चटखारे देने वाला कच्चे आम का चटपटा पापड़, घर पर बनाने में बेहद आसान
आवश्यक सामग्री -
आम - 4 (750 ग्राम)
चीनी - 1/4 कप (125 ग्राम)
घी - 1 छोटी चम्मच
गरम मसाला - 2.5 छोटी चम्मच
काला नमक - 2 छोटी चम्मच या स्वादानुसार
लाल मिर्च पाउडर - 1/4 छोटी चम्मच
विधि -
आम पापड़ बनाने के लिए आम को अच्छे से धोकर पानी सूख जाने तक सुखा कर इन्हें छीलिये और पल्प को टुकड़ों में काट लीजिये.
एक बडा़ बर्तन लीजिए. इसमें आम के टुकड़े और 1 कप पानी डालकर गैस पर उबलने के लिए रख दीजिए. बर्तन को ढककर 4 से 5 मिनिट आम के टुकड़े नरम होने तक पका लीजिए.
5 मिनिट बाद आम को चैक कर लीजिए. आम अभी कच्चे हैं, इन्हें 3 मिनिट और उबलने दीजिए. 3 मिनिट बाद आम के टुकड़े चैक कीजिए. आम के टुकड़े नरम होकर तैयार हैं, गैस बंद कर दीजिए (आम को पकने में लगभग 8 मिनिट का समय लगा है.)
आम को थोड़ा ठंडा होने दीजिए. थोड़ा ठंडा होने के बाद इन्हें मिक्सर जार में डाल दीजिए और पेस्ट बना लीजिए. पेस्ट को छलनी में डालकर छान लीजिए. पल्प को छानने में आम के जो रेशे बच जाए, उन्हें हटा दीजिए और छना हुआ आम का पल्प ले लीजिए.
छाने हुए मिश्रण को बर्तन में डालकर गैस पर रख दीजिए. आम के पल्प में चीनी, गरम मसाला, काला नमक और लाल मिर्च डालकर अच्छे से मिक्स कर दीजिए. आम के पल्प में चीनी और मसाले अच्छे से घुल जाने तक और पल्प को थोडा़ गाढा़ होने तक पका लीजिए. लगभग 3 से 4 मिनिट में लगातार चलाते हुए आम का पल्प पक कर तैयार है. गैस बंद कर दीजिए.
किसी प्लेट या ट्रे पर पॉलीथीन शीट रख कर उसे घी लगाकर चिकना कर लीजिये और इस आम के पके हुए घोल को पॉलीथीन में डाल कर पतला फैला दीजिये. फिर, बचे हुए पल्प को भी दूसरी शीट पर डाल कर फैला दीजिए.
आम पापड़ को सूखने के लिए पहले इसे 1 दिन पंखे की हवा के नीचे रख दीजिए और उसके बाद इसे अगले दिन हल्के सूती कपड़े से ढककर धूप में सुखा लीजिए. अगर धूप न हो तो कमरे में ही पंखे की हवा के नीचे रखा रहने दीजिए. आम पापड़ सूख कर तैयार हो जाएगा.
आम पापड़ सूखकर तैयार है. इस स्वादिष्ट आम पापड़ को अपने मनपसंद आकार में काट कर पॉलीथिन से निकाल कर प्लेट में रख लीजिए और सर्व कीजिए.
आम पापड़ को किसी एयर-टाइट कंटेनर में भरकर रख दीजिए और 2 से 3 महीने तक इसे जब आपका मन करे खाने के लिए उपयोग में ला सकते हैं.
सुझाव
मैंगो पल्प को छान लेने से रेशे अलग हो जाते हैं और हमें अच्छा चिकना पल्प मिलता है.
आम पापड़ में आप मिर्च पाउडर न डालना चाहें तो नही डालें.आम पापड़ मोटा या पतला जैसा चाहें बना सकते हैं.
आम पापड़ को पंखे की हवा या धूप में जैसे चाहें सुखा सकते हैं . धूप में सुखा रहे हैं तो ध्यान रहे कि हवा न चल रही हो क्योंकि हवा के होने से आम पापड़ पर धूल या मिट्टी पड़ सकती है.
आम पापड़ जब हल्का सा सूख जाए तब इसे पतले सूती कपड़े से ढककर धूप में सुखाने के लिए रख सकते हैं.
नींबू पुदीने का शर्बतलू की थपेड़ों से भरे मौसम में आपको तरावट और तरोताजगी देने वाला नींबू पुदीने का मसालेदार शरबत, एकदम उम्दा स्वादयुक्त.
आवश्यक सामग्री -
पुदीना - 1 कप
नींबू - 1
चीनी - 4 टेबल स्पून
नींबू के टुकड़े - 4
भुना जीरा पाउडर - ½ छोटी चम्मच
काला नमक - ½ छोटी चम्मच या स्वादानुसार
विधि -
पुदीना साफ करके पत्तों को साफ पानी से धो लीजिए और छलनी में रख कर सारा पानी सूख जाने तक इन्हें सुखा लीजिए. इसके बाद, इन पत्तों को मिक्सर जार में डाल दीजिए. साथ ही चीनी, काला नमक, भुना जीरा पाउडर, नींबू का रस और आधा कप पानी डालकर बारीक़ पीस लीजिए.
तैयार पुदीने के पेस्ट को छलनी से छान कर प्याले में निकाल लीजिए.
पीने के लिये शरबत तैयार कीजिए
इसके लिए 2 गिलास लीजिए. इनमें 2 से 3 आइस क्यूब्स डालिए और दोनों गिलासों में आधी-आधी मात्रा शरबत की डालकर पानी डाल दीजिए. इसे अच्छे से मिक्स कर दीजिए. शरबत को सजाने के लिए इसके ऊपर पुदीना के पत्ते और नींबू के टुकड़े डाल दीजिए. ठंडा-ठंडा नीबू पुदीना शरबत बनकर तैयार है.
सुझाव
चीनी आप अपनी पसंद के अनुसार कम या ज्यादा ले सकते हैं. सकते हैं.
शरबत के लिए आप पानी के बदले सोडा वाटर का उपयोग भी कर सकते हैं.
कैरी पुदीना चटनी

स्वाद में बेमिसाल और बनाने में सरल कैरी पुदीना चटनी, गर्मियों के मौसम के लिए खास.
आवश्यक सामग्री -
पुदीना - 2 कप (250 ग्राम)
कच्चा आम - 1 (150 ग्राम)
हरी मिर्च - 4-5
सौंफ पाउडर - 2 छोटी चम्मच
जीरा - 1 छोटी चम्मच
काला नमक - 1 छोटी चम्मच या स्वादानुसार
नमक - 1 छोटी चम्मच या स्वादानुसार
विधि -
पुदीना को साफ करके मोटी डंडियां हटाकर पत्तों को साफ पानी से धो लीजिए और छलनी में रखकर सारा पानी सूख जाने तक सुखा लीजिए.
आम को छीलकर पल्प निकाल लीजिए और पल्प को छोटे-छोटे टुकड़ों मे काटकर एक प्याले में रख लीजिए.
मिक्सर जार में आम के टुकड़े, पुदीना के पत्ते और नमक डाल दीजिए. साथ ही काला नमक, जीरा, सौंफ और हरी मिर्च को दो भाग करते हुए भी डाल दीजिए. इसमें ½ कप पानी डालकर एकदम बारीक पेस्ट तैयार कर लीजिए.
चटनी पिसकर तैयार है. चटनी को प्याले में निकाल लीजिए.
कच्चे आम पुदीने की चटनी परोसने के लिये तैयार है. इस चटपटी और ज़ायकेदार कच्चे आम की चटनी को कचौड़ी, समोसे, पकौड़े, दोसे किसी भी भोजन के साथ सर्व कर सकते हैं.
सुझाव
हरी मिर्च आप अपने स्वादानुसार कम या ज्यादा कर सकते हैं.
सूजी की खिचड़ी -

सब्जियों के साथ तैयार सूजी की खिचड़ी, एक हल्का फुल्का व्यंजन दिन में किसी भी समय के लिए.
आवश्यक सामग्री -
सूजी - ¼ कप
घी - 2 टेबल स्पून
शिमला मिर्च - 2 से 3 टेबल स्पून (बारीक कटी हुई)
टमाटर - 2 से 3 टेबल स्पून (बारीक कटे हुए)
हरी मटर - 2 टेबल स्पून
जीरा - ½ छोटी चम्मच
करी पत्ता - 7 से 8
हल्दी पाउडर - ¼ छोटी चम्मच से कम
अदरक - ¼ इंच टुकडा़ (बारीक कटा हुआ)
हरी मिर्च - 2 बारीक कटी हुई
नमक - ½ छोटी चम्मच या (स्वादानुसार)
विधि -
खिचड़ी बनाने के लिए सबसे पहले सूजी को भूनकर तैयार कर लीजिए. इसके लिए पैन में 2 छोटी चम्मच घी डालकर गरम कीजिए. घी में सूजी डाल दीजिए और सूजी को लगातार चलाते हुए हल्का गोल्डन ब्राउन होने तक मध्यम आंच पर भून लीजिए.
भुनी सूजी को प्लेट में निकाल लीजिए. इसके बाद, पैन में 2 छोटी चम्मच घी डालकर गरम कीजिए. घी के गरम होने पर गैस धीमी करके घी में जीरा डालकर चटखा लीजिए. जीरा भुनने पर करी पत्ता, बारीक कटा हुआ अदरक और बारीक कटी हुई हरी मिर्च डालकर हल्का भून लीजिए. इसके बाद हल्दी पाउडर डालकर मसालों को हल्का सा और भून लीजिए.
मसाले भुन जाने के बाद, इसमें हरी मटर के दाने डाल दीजिए और इसे लगातार चलाते हुए भून लीजिए. मटर के हल्का भुन जाने पर इसमें बारीक कटी हुई शिमला मिर्च और टमाटर डालकर सब्जियों को 1 से 2 मिनिट लगातार चलाते हुए हल्की क्रन्ची होने तक पका लीजिए.
सब्जियों के क्रन्ची होने के बाद, इनमें 1.5 कप पानी डाल दीजिए. साथ ही भुनी हुई सूजी और नमक डाल सभी चीजों को अच्छे से मिलने तक मिक्स कर लीजिए. पैन को ढककर सूजी को धीमी आंच पर 3 मिनिट के लिए फूलने तक पकने दीजिए.
खिचडी़ को चैक कीजिए. सूजी के अच्छे फूलने के साथ ही, खिचडी़ पककर तैयार हो गई है. इसे बिना ढके लगातार चलाते हुए 1 मिनिट और पका लीजिए. खिचडी़ के अच्छा गाढां होने पर यह पककर तैयार है, गैस बंद कर दीजिए तथा खिचडी़ को प्याले में निकाल लीजिए.
स्वाद से भरपूर हेल्दी सूजी की खिचडी़ के ऊपर 1 चम्मच घी डालकर इसकी गार्निशिंग कर दीजिए. इस लाज़वाब खिचड़ी को गरमागरम ऎसे ही खाइए.
सुझाव
खिचड़ी के लिए मोटी वाली सूजी अच्छी रहती है.
खिचडी़ अगर बच्चों के लिए बना रहे हैं तो उसमें मिर्च का उपयोग न करें.
चावल के गुलाब जामुन या दुधोरी-

दूधौरी जिसे चावल के गुलाब जामुन भी कहते हैं, यह बिहार-झारखंड की पारंपरिक मिठाई है इसे बनाना बेहद आसान है और इसे रोड ट्रिप या पिकनिक के लिए बनाकर पैक भी किया जा सकता है। तो आप भी जरूर ट्राइ करें दूधौरी।
सामग्री:-
चावल 1 कप
दूध 1 लीटर
चीनी 2 कप
पानी डेढ़ कप
तेल 1 कप
इलायची पाउडर 1 छोटा चम्मच
विधि:-
- दूध को उबाल लें। अब चावल को अच्छी तरह से साफकर उबले हुए दूध में डालें। मध्यम आंच पर तब तक पकाएं जब तक चावल पूरी तरह से गल ना जाए और चावल दूध को पूरी तरह से सोख ना ले।
- इस मिश्रण को कुछ देर के लिए ठंडा होने दें। अब इसे मिक्सर में डालकर पेस्ट बना लें या आप इसे अपने हाथ से मसल सकती हैं।
- अब इस पेस्ट या मिश्रण के छोटे-छोटे लेकिन लंबे गोले बना लें और फिर उसे डीप फ्राइ करके अलग रख लें।
- अब डेढ़ कप पानी और चीनी मिलाकर चासनी बना लें। इस चासनी में इलायची पाउडर डालें। इस चासनी में तैयार किए गए चावल के गोले डालकर थोड़ी देर चासनी में ही छोड़ दें।
- चावल के गुलाब जामुन तैयार हैं। इसे अपनी पसंद के अनुसार गरमा गर्म या ठंडा कर सर्व करें।
तिल मावा बर्फी-

• आवश्यक सामग्री -
तिल - 250 ग्राम
मावा (खोया) - 250 ग्राम
चीनी - 300 ग्राम
काजू - 50 ग्राम
• विधि -
तिल को साफ कर लीजिये, एक भारी तले की कढ़ाई में डाल कर, हल्का ब्राउन होने तक भून लीजिये. ठंडा कीजिये और मिक्सर में थोड़ा मोटा मोटा पीस लीजिये.
मावे को भी एक कढ़ाई में डालिये और अच्छी तरह भून लीजिये. निकाल कर प्लेट में रख लीजिये.
काजू को छोटा छोटा काट लीजिये.
चीनी को कढ़ाई में डालिये. चीनी की मात्रा का एक तिहाई पानी (चीनी 300 ग्राम तो पानी 100 ग्राम डालना है) डाल कर चीनी में मिला दीजिये. अब इसकी 3 तार की चाशनी बनाइये (कढ़ाई को तेज गैस पर रखिये 6-7 मिनिट में चाशनी बन जाती है). टैस्ट: चम्मच से चाशनी की एक बूद किसी प्लेट में गिरायें, ठंडी होने पर उंगली और अंगूठे के बीच चिपका कर देखे, वह गोद की तरह चिपकती है, और उंगली, को दूर करते समय कुछ तार जैसे बनते दिखाई देते हैं. आप देख सकते हैं कि आपकी चाशनी तैयार हो गयी है.
चाशनी में काजू, मावा और पिसे हुये तिल डाल कर अच्छी तरह मिला दीजिये.
एक थाली में थोड़ा सा घी लगाकर चिकना कीजिये. मिश्रण को थाली में डाल कर फैलाइये और ठंडा करने के लिये रख दीजिये. दो घंटे बाद मिश्रण जम गया है चाकू की सहायता से अपने मन पसन्द आकार के बर्फी के टुकड़े काट लीजिये.
आपकी तिल की स्वादिष्ट बर्फी तैयार है. तिल की बर्फी को एअर टाइट कन्टेनर में भर कर रखिये. जब भी आपका मिठाई खाने का मन हो, तिल की बर्फी (Til Burfi,Til Burfee,Til Burfi) निकालिये और खाइये.
चॉकलेट मावा बर्फी

सामग्री:-
मावा बर्फी की परत के लिये
मावा - 300 ग्राम (कद्दूकस किया हुआ 1.5 कप)
चीनी पाउडर - 100 ग्राम ( आधा कप)
छोटी इलाइची - 5-6, छील कर पाउडर बना लीजिये
चाकलेट बर्फी परत के लिये मावा - 200 ग्राम (कद्दूकस किया हुआ 1 कप)
चीनी पाउडर - 70 ग्राम ( 1/3 कप)
कोको पाउडर - 2 टेबल स्पून
लेबल किया हुआ
घी - 2 टेबल स्पून
विधि:-
मावा-चॉकलेट बर्फी बनाने के लिये पहले हम मावा बर्फी की लेयर बनायेंगे फिर इसके ऊपर चॉकलेट की लेयर जमायेंगे. मावा बर्फी मावा को कद्दूकस कर लीजिये, कढ़ाई में 1 छोटी चम्मच घी डालकर गरम कर लीजिये, गैस एकदम धीमी रखिये, घी पिघलने के बाद, कद्दूकस किया हुआ मावा डाल दीजिये और पाउडर चीनी डाल दीजिये, लगातार चलाते हुये मावा चीनी के मेल्ट होने तक भूनिये. मेल्ट होने के बाद, हल्की सा उबलते मिश्रण को धीमी गैस पर 5-6 मिनिट तक लगातार चलाते हुये पका लीजिये, इलाइची पाउडर डालकर मिला दीजिये. बर्फी जमने के लिये मिश्रण तैयार है. प्लेट में घी लगाकर चिकना कीजिये, मिश्रण को जमने के लिये प्लेट में डालिये और घी लगी चम्मच से एक जैसा फैला दीजिये, बर्फी को 1 घंटे तक ठंडी होने दीजिये. जब मावा बर्फी की परत तैयार हो जाये तो हम इस पर चॉकलेट बर्फी की परत बिछायेंगे.
चॉकलेट बर्फी की परत तैयार कीजिये सादा बर्फी एकदम ठंडी हो गई है, इसके बाद चौकलेट वाली बर्फी के लिये कढ़ाई में एक छोटी चम्मच घी, कद्दूकस किया मावा, पाउडर चीनी और कोको पाउडर डालकर, धीमी आग पर लगातार चलाते हुये मावा चीनी के मेल्ट होने तक भून लीजिये. मेल्ट होने के बाद, हल्का सा उबलते मिश्रण को धीमी आग पर 4-5 मिनिट तक लगातार चलाते हुये भूनते रहिये. चौकलेट का मिश्रण बर्फी जमाने के लिये तैयार है. चौकलेट वाले तैयार मिश्रण को सादा ठंडी की हूई बर्फी के ऊपर डालिये और घी लगी चम्मच से फैला कर एक जैसा कर कर दीजिये, बर्फी को जमने के लिये ठंडी जगह पर 2-4 घंटे के लिये रख दीजिये, बर्फी जमकर तैयार हो जायेगी, मावा चौकलेट बर्फी बनकर तैयार है. मावा चौकलेट बर्फी को अपने मन पसन्द टुकड़ों में काट कर तैयार कर लीजिये. बर्फी को 2-4 घंटे के लिये खुला ही रहने दीजिये, बर्फी थोड़ी खुश्क होने के बाद इसे कन्टेनर में भर कर फ्रिज में रख लीजिये 8-10 दिन तक खाते रहिये.
सुझाव:
चौकलेट बर्फी के लिये कोको पाउडर को 2 टेबल स्पून लेबल करके लीजिये, ज्यादा ऊपर तक भरने से बर्फी का स्वाद बिटर हो सकता है. मिश्रण को धीमी आग पर लगातार चलाते हुये कलछी को कढ़ाई के तले तक ले जाते हुये पकाना है, बर्फी बहुत अच्छी बन कर तैयार होगी.
चाइनीज़ मसाला पनीर
सामग्री :-
100 ग्राम पनीर,
1 टेबलस्पून हरी मिर्च (कटी हुई),
1 टेबलस्पून लहसुन (कटा हुआ),
1 टेबलस्पून अदरक (कटा हुआ),
1 टेबलस्पून कॉर्न फ्लार, 4 टेबलस्पून सोया सॉस,
2 टी स्पून चिली गार्लिक सॉस,
2 चुटकी चीनी,
1 टेबलस्पून रिफाइंड ऑयल।
विधि:-
पनीर को तेल में हल्का सा तल लें। एक बर्तन में तेल गर्म करें उसमें हरी मिर्च, लहसुन और अदरक डालकर कुछ देर तक पकाये। सोया सॉस, चिली-गार्लिक सॉस और चीनी डालकर मिश्रण को गाढ़ा होने तक पकाये। पनीर डालकर 1 मिनट तक और पकाये। गर्मागर्म सर्व करें।
खोये काजू की सब्ज़ी

आवश्यक सामग्री
खोया – २५० ग्राम,
काजू – १५० ग्राम,
किशमिश – २० ग्राम,
प्याज – १०० ग्राम,
लहसुन – १० ग्राम,
अदरक – २० ग्राम,
टमाटर – १२५ ग्राम,
बड़ी इलाइची – ५ नग,
नमक व् लाल मिर्च – स्वादानुसार,
हरा धनिया – १० लड़ियाँ,
हल्दी – १ चम्मच,
गर्म मसाला – १ चम्मच,
घी – १५० ग्राम
बनाने की विधि:
काजुओं को ५०० ग्राम पानी में उबाल लें, और फिर छान कर काजू अलग कर लें, प्याज को बारीक़ काट लें और तब लहसुन और अदरक को मिक्सी में पीस कर पेस्ट बना लें.
अब एक कडाही लें और घी को गर्म करें. पहले इसमें प्याज को भून लें. जब प्याज का रंग हल्का लाल हो जाए तब उसमें लहसुन व् अदरक डाल दें. फिर ५ मिनट बाद उसमें हल्दी, नमक, मिर्च व् काजू आदि को भी डाल दें. अब इसको ७ मिनट तक पकाएं.
दुसरे किसी बर्तन में खोया, किशमिश, इलायची को मिलकर भुनें तब तक जब तक की खोया लाल न दिखाई देने लेगे. अब भूनने के बाद इस मिश्रण को काजू वाले मिश्रण में मिला दें. अब एक बड़ी चम्मच लेकर इसको हिलाते हुए हलके – हलके, ५ मिनट तक पकाएं.
अब इसके पकने के बाद इसमें हरा धनिया व् गर्म मसाला मिला लें. ये लो हो गयी आपकी काजू – खोए की सब्जी तैयार.
काजू की चटनी

अगर घर पर डोसा, इडली या पराठा नाश्‍ते में बनाने जा रही हैं, तो आपको उसके साथ काजू की चटनी भी बनानी चाहिए।
सामग्री-
काजू- 1 कप
सूखी लाल मिर्च- 3 स्‍लाइस
छोटे प्‍याज- 6 क्रश किए
इमली- 1/2 पीस
नमक - स्‍वादअनुसार
नारियल तेल- 2 चम्‍मच
विधि-
एक पैन लें, जब वह गरम हो जाए तब उसमें नारियल तेल डाल कर गरम करें।
फिर उसमें काजू को गोल्‍डन ब्राउन होने तक सेंके।
अब उसी पैन में सूखी लाल मिर्च डालें और फ्राई करें, आंच धीमी होनी चाहिए।
लाल मिर्च को जलाने की कोशिश ना करें। अब मिक्‍स में इन सभी सामग्रियों (प्‍याज, इमली और नमक) को पीस लें।
पेस्‍ट में चाहें तो पानी भी मिला सकते हैं। आपकी काजू चटनी खाने के लिये बिल्‍कुल तैयार है।
बिस्कुट वाली मखाना खीर-

अगर आपको खीर पसंद है और कम समय में कुछ बनाना चाहते हैं तो ट्राई कीजिए यह रेसिपी.
आवश्यक सामग्री:-
1 कप मैरीगोल्ड बिस्किट का चूरा (अपनी पसंद से कोई भी ले सकते हैं)
1 लीटर गरम किया हुआ टोन्ड दूध
तीन-चौथाई कप ब्राउन शुगर या शुगर
एक चौथाई कप इलायची पाउडर
एक बड़ा चम्‍मच काजू, रोस्‍ट किए हुए
एक बड़ा चम्मच बादाम-पिस्ता, बारीक कटे
सजावट के लिए
बादाम और पिस्ता से खीर को गार्निश कर सकते हैं.
विधि:-
- गैस पर भारी तले के बर्तन में दूध और चीनी मिला कर इसे तब तक उबालें, जब तक यह तीन-चौथाई न हो जाए.
- गैस से उतार कर इसमें बिस्‍कि‍ट का चूरा डालें और अच्‍छी तरह मिला लें.
- अब इसमें इलायची पाउडर डालें और मिलाएं.
- इसके बाद काजू को घी में हल्‍का सा रोस्‍ट कर खीर में डालें.
- बादाम-पिस्ते से गार्निश कर इसे गर्मागर्म सर्व करें.
हक्का नूडल्स-

आवश्यक सामग्री:-
1 पैकेट हक्का नूडल्स
1 कप हरे, पीले और लाल शिमला मिर्च,बारीक कटे हुए
1 गाजर पतले टुकड़ों में कटी हुई
4-5 हरे प्याज लम्बे स्लाइस में कटा हुआ
8-10 बीन्स, कटी हुई
1 कप पत्ता गोभी बारीक कटी हुई
3-4 लहसुन बारीक कटे हुए
2 चम्मच सोया सॉस
4 चम्मच तेल
1 चम्मच वेनिगर
1 चम्मच चिली सॉस
आधा चम्मच काली मिर्च पाउडर
नमक स्वादानुसार
विधि:-
- एक बड़े बरतन में करीब 2 लीटर पानी गरम करने के लिए रखें. जब पानी उबलने लग जाए तो इसमें हक्का नूडल्स , नमक और 2 चम्मच तेल डालिए.
- नूडल्स पूरी तरह पकने के पहले गैस बंद कर दें. नूडल्स को किसी छलनी में निकालकर ठंडे पानी से अच्छी तरह धो लें.
- पूरा पानी निकाल कर एक तरफ रख दें.
- अब तेज आंच पर एक कड़ाही में तेल गरम करें.
- इसमें लहसुन और प्याज डालकर 1 मिनट तक भूनें फिर बाकी सारी कटी हुई सब्जियां मिलाकर करीब 2-3 मिनट तक लगातार चलाते हुए भूनें.
- फिर इसमें नूडल्स मिला दें,
- सोया सॉस, चिली सॉस , वेनेगर, नमक, काली मिर्च का पाउडर डालकर अच्छी तरह मिक्स कर लें.
- 1-2 मिनट तक चलाते हुए भूनें फिर गैस बंद करके तुरंत ही गरमागरम हक्का नुडल्स टोमैटो सॉस के साथ सर्व करें.
पनीर कचौड़ी रेसिपी

हमारे यहां के हर मौसम में पसंद की जाने वाली डिश कचौरी है। जिसे हर भारतीय बड़े ही स्वाद के साथ खाते है। यदि उसमें पनीर डाल दिया जाये तो फिर क्या कहने, इसे तो मना ही नहीं किया जा सकता। इसलिए आज हम ला रहें हैं सबसे असान तरीकों से तैयार की जाने वाली डिश पनीर कचौरी। इसे आप नाश्ते के साथ या अपने मेहमानों को मसालेदार आलू सब्जी के साथ सर्व कर सकते है। तो जाने इसे बनाने का तरीका…
आवश्यक सामग्री :
200 ग्राम पनीर
1 कप मैदा का आटा
6 बड़े चम्मच घी
नमक स्वाद अनुसार
1 चम्मच जीरा
1 छोटी चम्मच हींग
1 छोटा चम्मच गरम मसाला
2 चम्मच धनिया पाउडर
1/2चम्मच लाल मिर्च पाउडर
½ चम्मच चाट मसाला
2-3 बड़े चम्मच ताजा हरा कटा धनिया
तलने के लिए तेल
पनीर कचौड़ी बनाने का तरीका :
सबसे पहले एक कटोरी में मैदे का आटा ले लो और उसमें 4 बड़े चम्मच, स्वाद के अनुसार नमक मिलाते हुये अपनी उंगलियों की सहायता से आटे को घी में इस तरह से मिलाये कि वो पूरी तरह से उसमें मिल जाए।
अब पानी लेकर आटे को कुछ कड़ा सा गूंथ लें और इसे एक नरम कपड़े से ढक कर रख दें।
अब पनीर को एक कटोरी में डालों।
एक पैन में घी गरम डालकर गर्म होने के लिए रखें, अब गर्म घी में जीरा और हींग डालकर इसमें धनिया पाउडर, लाल मिर्च पाउडर और गरम मसाला डालकर अच्छी तरह से मिलाएं। उसके बाद इसमें चाट मसाला, हरा धनिया डालकर 1 मिनट तक तलते रहे।
जब मसाला भुन जाये तो उसमें कसा हुआ पनीर डाल कर इस मिश्रण को अच्छी तरह से मिलाओं।
अब आपका कचौरी में भरने वाला मिश्रण पूरी तरह से तैयार है। इस मिश्रण के एक अलग कटोरे में निकाल कर रख दे।
अब एक कढ़ाही में कुछ तेल डालकर गरम करें ।
गुथे हुए आटे को बराबर बराबर भागों में बाटते हुए छोटी छोटी सी लोईयां बनाकर तैयार करें।
आटे की लोई को हल्का से बेलकर उसमें बीच में पनीर को भरकर चारों ओर से बंद कर दो। उसके बाद चपाती के समान हल्का सा बेल कर सभी को एक थाली में सी तरह से बनाकर रख लें।
अब गर्म तेल में बेली हुई कचौड़ी को डालकर तलों जब वो अच्छी तरह से भूरी और कुरकुरी हो जाये तो उन्हें बाहर प्लेट पर निकालकर एक टिशू पेपर पर रख दें।
तैयार गर्म गर्म कचौड़ी को हरी चटनी या आलू सब्जी के साथ सभी को सर्व करें।
शाही टुकड़ा रेसिपी-

आवश्यक सामग्री :
5-6 ब्रेड स्लाइस
½ लीटर दूध फुल क्रीम (रबड़ी के लिए)
1/4 कप चीनी (रबड़ी के लिए)
काजू 5-6 (बारीक़ कटे)
बादाम 5-6 (बारीक़ कटे)
हरी इलायची पाउडर 1/4 छोटी चम्मच
देसी घी ब्रेड तलने के लिए
¾ कप चीनी (चाशनी के लिए)
बनाने की विधि :
एक भारी तले के बर्तन मे दूध उबलने के लिए रख दे
दूध में उबाल आने के बाद आँच को धीमा कर दे और दूध को तब तक उबलने दे जब तक दूध गाढ़ा हो कर आधा हो जाये, बीच बीच में चलाते रहे ताकि दूध तले में न लगे
गाढ़ा होने के बाद दूध में चीनी, (ऊपर से सजाने के लिए थोड़े से कटे मेवे बचा ले) कटे काजू, बादाम और इलायची पाउडर डालकर धीमी आँच पर 10 से 15 मिनट तक और उबलने दे दूध को बीच बीच में चलाए
आँच बन्द कर दे रबड़ी तैयार है रबड़ी को ठंडा होने दे
एक बर्तन में चीनी और ½ कप पानी डाल के गैस पर उबलने चढ़ा दे 5-7 मिनट में चाशनी तैयार हो जाएगी.
गैस बंद करके चाशनी अलग रख दे.
ब्रेड के किनारों को काट के अलग कर दे, उसके बाद ब्रेड स्लाइस कप मनचाहे आकार में काट ले,
टुकड़े बहुत बड़े नहीं होने चाहिए, एक ब्रेड के चार टुकडो के हिसाब से कट ले, इसी तरह सारी ब्रेड स्लाइस काट ले
एक पैन में घी गरम करे उसमे ब्रेड के टुकड़ो को डालकर दोनों तरफ से ब्राउन होने तक तले ब्रेड को आँच हल्की करके तले नही तो ब्रेड जल जाएगी
ब्रेड के सारे टुकड़े इसी तरह तल पेपर नैपकिन पर निकाल ले जिससे पेपर एक्स्ट्रा तेल सोख ले ब्रेड को ठंडा होने दे.
अब ब्रेड के हर टुकड़े को चाशनी में डूबा के तुरंत ही निकल ले फिर किसी प्लेट में लगाते जाये. साड़ी ब्रेड चाशनी में डूबा के निकाल ले.
ब्रेड के टुकड़ो को सर्विंग प्लेट पर सजाए और ऊपर से रबड़ी डाले ब्रेड के सारे टुकड़े पर रबड़ी अच्छी तरह से डाल दे
फिर ऊपर से बची हुई कटी मेवा से सजा दे. वर्क लगा के फ्रिज में रखकर ठंडा करे शाही टुकड़ा तैयार है मेहमानों को ठंडा शाही टुकड़ा सर्व करे
आँवले का अचार

आंवला बहुत गुणकारी होता है. इसमें विटामिन सी और आइरन काफ़ी मात्रा में पाया जाता है. आंवले को आप चटनी, मुरब्बा या आचार, किसी भी रूप में खाइए, ये आपके लिए बहुत लाभकारी रहेगा. तो आइए इस बार गुणों के ख़ज़ाने, आंवले का आचार बनाएं.
आवश्यक सामग्री:
आंवले - 500 ग्राम
सरसों का तेल - 200 ग्राम
हींग - 1/4 छोटी चम्मच (पिसी हुई)
मैथी के दाने - 2 छोटी चम्मच
अजवायन - 1 छोटी चम्मच
नमक - 50 ग्राम (4 छोटे चम्मच)
हल्दी पाउडर - 2 छोटे चम्मच
लाल मिर्च पाउडर - 1 छोटा चम्मच से कम
पीली सरसों - 4 छोटे चम्मच (मोटी मोटी पिसी हुई)
सोंफ पाउडर - 2 छोटे चम्मच
बनाने की विधि:
बाज़ार से अच्छी किस्म के आंवले खरीद लाएं और इन्हें घर लाकर साफ़ पानी में डालकर अच्छे से धो लें. एक बर्तन में 1 1/2 कप पानी लेकर इसे उबलने के लिए रख दें. पानी में उबाल आने पर इसमें सारे आंवले डाल दें और गैस को धीमी कर दें. हमें आंवलों को इतना नरम करना है कि इनकी फांकें की जा सकें. जब आपको लगे कि आंवले इतने नरम हो गए हैं तो गैस बंद कर दें.
आंवलों से सारा पानी हटा कर इन्हें ठंडा कर लें. जब ये ठंडे हो जाएं तो इनकी फ़ांकें निकाल लें और गुठली अलग कर दें.
एक कढा़ई में तेल डाल कर अच्छा गरम करें और फिर गैस बंद कर दें. इस तेल में हींग, मेथी के दाने और अजवायन डाल दें और चम्मच से हल्का चलाते हुए भून लें. अब हल्दी पाउडर, सौंफ़ पाउडर, नमक, लाल मिर्च और पीली सरसों डाल कर सारे मसालों को चलाते हुए अच्छे से मिला लें. तैयार मसालें में आंवले डालें और चलाते हुए मिलाएं. आंवले का आचार बन कर तैयार है.
आचार को अच्छे से ठंडा होने दें. ठंडा होने के बाद इसे किसी कांच के कंटेनर में भर लें. 3-4 दिन तक इसे रोज़ साफ़ और सूखे चम्मच चलाकर ऊपर-नीचे ज़रूर करते रहें. आप चाहें तो आंवले के आचार को अभी खा सकते हैं लेकिन 3-4 दिन में सारे मसालों का स्वाद इसमें भर जाएगा और आचार बेहद स्वादिष्ट हो जाएगा. अगर आप चाहते हैं कि ये आचार ज़्यादा समय तक ठीक रहे तो आवलों को तेल में डुबा कर रखें.
आंवले का स्वादिष्ट आचार तैयार है. जब भी आपका मन इसे खाने का करे तो बस इसे कंटेनर से निकालें और खा लें. ये आचार साल भर तक आराम से चलेगा.
ध्यान दें:
आचार बनाते समय इस्तेमाल होने वाले सारे बर्तन साफ़ और सूखे होने चाहिएं. ज़रा से नमी और गंदगी भी आचार को खराब कर सकती है.
जिस कंटेनर में आप आचार भरने वाले हैं उसे उबलते पानी से अच्छे से धो लें और फिर धूप में या अवन में सुखा लें.
आचार को निकालने के लिए हमेशा साफ़ और सूखे चम्मच का इस्तेमाल करें. हफ़्ते में एक बार इसे चम्मच से चलाकर ऊपर-नीचे भी ज़रूर कर दें.
अगर 2-3 महीनों में आचार को एक दिन की धूप लगवा दी जाए तो इसका स्वाद बना रहता है और आचार ज़्यादा समय तक ठीक भी रहता है.

No comments:

Post a comment

राजशाही सेवईं

राजशाही सेवईं  ========== आवश्यक सामग्री : सेंवई_Sewai – 250 ग्राम, शक्कर_Sugar – 500 ग्राम, नारियल_Coconut – 100 ग्राम (भ...