Tuesday, 9 May 2017

सत्तू की कचोरी

सत्तू की कचौरी -

सप्ताहांत में बनने वाला नाश्ता रोजाना बनने वाले नाश्ते से कुछ अलग अलग ही होता है, कुछ अच्छा सा स्वादिष्ट हो तो कितना अच्छा है, तो आइये इस सप्ताहांत में हम सत्तू की कचौरी बनायें
सत्तू की कचौरी बनाना बड़ा ही आसान है और समय भी कम ही लगता है. आजकल सत्तू लगभग सभी शहरों में किराने की दुकानों में तैयार मिल जाता है. खासियत इन सत्तू की कचौरियों  को 4-5 दिन तक रख कर खा सकते हैं.
आवश्यक सामग्री
आटा लगाने के लिये:
गेहूं का आटा - 2 कप
तेल -4 टेबल स्पून
नमक - स्वादानुसार (एक छोटी चम्मच)
पिट्ठी के लिये:
सत्तू - 150 ग्राम या 1 कप से थोड़ा कम )
घी या तेल - 3-4  टेबिल स्पून (पिठ्ठी बनाने के लिये)
हींग - 2 पिंच
जीरा - आधा छोटी चम्मच
धनियां पाउडर - 1 छोटी चम्मच
सोंफ पाउडर - 1 छोटी चम्मच
हरी मिर्च - 2 (बारीक कतरी हुई)
अदरक - एक इंच लम्बा टुकड़ा (कद्दूकस कर लीजिये)
लाल मिर्च -  एक चौथाई छोटी चम्मच
गरम मसाला - एक चौथाई छोटी चम्मच
अमचूर पाउडर - आधा छोटी चम्मच
नमक - स्वानुसार ( आधा छोटी चम्मच)
हरा धनियां - एक टेबल स्पून (बारीक कतरा हुआ)
तेल - कचौरियां तलने के लिये
विधि -
किसी बर्तन में आटा छान कर निकाल लीजिये, आटे में तेल और नमक डाल कर मिलाइये, ठंडे पानी की सहायता से नरम आटा गूथ लीजिये, आटे को सिर्फ इकठ्ठा होने तक गूथना है,  आटे को ढककर सैट होने के लिये 15 -20 मिनिट के लिये रख दीजिये.
पिट्ठी बनाने के लिये, सत्तू को छान कर किसी बर्तन में निकालिये, कढ़ाई में घी या तेल डाल कर गरम कीजिये, गरम तेल में हींग और जीरा डालिये, जीरा तड़कने के बाद, हरी मिर्च और अदरक डाल दीजिये. सत्तू, धनियां पाउडर और सोंफ पाउडर डाल कर, चमचे से चलाते हुये ब्राउन होने तक  भूनिये (सत्तू बहुत जल्दी भुन जाता है क्यों कि यह पहले से रोस्ट किया होता है). इस भुने हुये सत्तू में लाल मिर्च, गरम मसाला, अमचूर पाउडर, नमक और हरा धनियां डाल कर मिलाइये. कचौरी में पिट्ठी भरने के लिये तैयार है.
कढ़ाई में तेल डाल कर गरम कीजिये, कचौरी के आटे से एक नीबू के बराबर आटा तोड़िये, अंगुलियों की सहायता से बड़ाइये, एक छोटी चम्मच पिट्ठी उसके ऊपर रखिये, आटे को चारों तरफ से उठा कर कचौरी को बन्द कीजिये, हथेली पर रख कर दूसरे हाथ की सहायता से थोड़ा सा दबा कर बड़ा कर लीजिये, और अब इसे चकले पर रख कर, बेलन की सहायता से हल्का दबाब डालते हुये, 2 1/2 - 3 इंच के ब्यास में मोटा ही  बेल लीजिये. चार - पांच कचौरी बेलिये, गरम तेल में डालिये और मीडियम एवं धीमी गैस फ्लेम पर, पलट पलट कर कचौरिया ब्राउन होने तक तलिये.  सारी कचौरी इसी तरह बनाकर तैयार लीजिये.
सत्तू की कचौरी तैयार है.  गरमा गरम सत्तू की कचौरियां, धनिये की चटनी के साथ परोसिये और खाइये.

करेला चाट

करेला चाट –

करेला चाट में करेला सब्जी का इस्तेमाल नहीं होता. इस चाट में करेला के आकार में मैदा के नमकीन बनाकर प्रयोग किये जाते हैं. ब्रज और इसके आस पास चाट करेला बहुत पसंद की जाती है.
इन नमकीन करेलों को आप चाट ही नहीं बल्कि सामान्य नमकीन की तरह चाय नाश्ते में उपयोग भी कर सकते हैं. तो आइये फिर हम जल्दी से करेला चाट बनायें.
आवश्यक सामग्री -
करेला  बनाने के लिये
मैदा - 250 ग्राम (2 कप)
अजवायन - आधा छोटी चम्मच
नमक - स्वादानुसार (आधा छोटी चम्मच)
जीरा - आधा छोटी चम्मच (यदि आप चाहें)
काली मिर्च - आधा छोटी चम्मच (दरदरी की हुई)
तेल- 60 ग्राम (1/4 कप)
तेल - तलने के लिये
चाट बनाने के लिये
आलू - 2 (उबले हुये)
दही - एक कप
मीटी चटनी - आधा कप
हरी चटनी - आधा कप
भुना हुआ जीरा - 1 छोटी चम्मच
काला नमक - स्वादानुसार
लाल मिर्च - स्वादानुसार
बेसन के छोटे सेव - एक कप
हरा धनियां  - एक टेबल स्पून( कतरा हुआ)
अनार के दाने - 1 टेबल स्पून (यदि आप चाहें)
विधि--
करेला कैसे तलें
मैदा को छान कर किसी बर्तन में निकाल लीजिये, तेल, नमक, अजवायन और काली मिर्च डाल कर मिलाइये और पानी की सहायता से कड़ा आटा गूथ लीजिये.  गुथे हुये आटे को सैट होने के लिये 20 मिनिट के लिये ढककर रख दीजिये.
गुथे हुये आटे से नींबू के आकार जितना  आटा निकालिये, गोल कीजिये और 5-6 इंच के व्यास में गोल पतली पूरी की तरह बेल लीजिये, चाकू से चित्र में दिखाये अनुसार कट लगाइये, दोनों ओर से उठाते हुये रोल कीजिये, सारे करेले इसी तरह तैयार कीजिये.
कढ़ाई में तेल डाल कर गरम कीजिये, गरम तेल में करेले डालिये और ब्राउन होने तक तलिये, तले हुये करेले प्लेट में नैपकिन पेपर बिछा कर रखिये, सारे करेले इसी तरह तल कर निकाल लीजिये. चाट बनाने के लिये करेले तैयार हैं.
इन करेलों की चाट बनायें
दही को छान कर पानी निकाल दीजिये, दही को फैट लीजिये.
प्लेट में 2 करेले रखिये, दही डालिये, सोंठ डालिये, हरी चटनी डालिये, उबले हुये आलू मैश करके ऊपर डाल दीजिये.  थोड़ा सा दही और डालिये, काला नमक, सेव, भुना हुआ जीरा और लाल मिर्च पाउडर डालिये, चाट को हरा धनियां और अनार दाने डाल कर सजाइये. लीजिये करेला चाट तैयार है. ये चाट खाने में बहुत ही स्वादिष्ट लगेगी.
करेला चाट ही नहीं करेला नमकीन भी आपको बहुत पसंद आयेगी.
आप बचे हुये करेले को एअर टाइट कन्टेनर में भर कर रखिये और  चाय के साथ नाश्ते या स्नेक्स के रूप में कभी भी खाइये, आपको चाय करेले बहुत पसन्द आयेंगे. इन्हें सामान्य नमकीन की तरह चार पांच हफ्ते तक रखा जा सकता है.

दही गुंझिया रेसिपी

दही गुझिया--

त्यौहार या अन्य अवसर पर तला भोजन खाकर पेट और स्वाद तृप्त हो जाता है और फिर इसके बाद खाने का मन करता है. एसे अवसर पर कांजी बड़ा और दही से बने खाद्य पदार्थ सर्वोत्तम माने जाते हैं. होली पर हम ढेर सारी गुझिया और मिठाईयां खा चुके हैं अब इसके बाद दही गुझिया सभी को पसन्द आयेगी.
दही गुझिया दही बड़ा जैसी ही है लेकिन ये आकार में गुझिया की तरह होती है और इसके अन्दर सूखे मेवे भरे जाते हैं.   आइये शुरू करते हैं उरद दाल की गुझिया बनाना.
आवश्यक सामग्री -
उरद की दाल - 200 ग्राम (एक कप)
नमक - स्वादानुसार (1/3 छोटी चम्मच)
किसमिस - 25-30 (वैकल्पिक)
चिरोंजी - एक टेबल स्पून (साफ कर लीजिये)
काजू - 15 (छोटे छोटे काट लीजिये)
तेल - गुझिया तलने के लिये
दही - 1 कि.ग्राम (4 कप)
नमक स्वादानुसार (एक छोटी चम्मच)
हरी चटनी - 1 छोटी कटोरी
मीठी चटनी - 1 छोटी कटोरी
लाल मिर्च - 1 छोटी चम्मच
भुना हुआ जीरा - 2 छोटी चम्मच
चाट मसाला -  2 छोटी चम्मच
विधि -
दाल को साफ कीजिये, धोइये, और 4- 5 घंटे के लिये पानी में भिगो दीजिये (पूरी रात भी पानी में भिगो सकते है).  अतिरिक्त पानी दाल को चलनी में रखकर निकाल दीजिये.
भीगी हुई दाल को बिना पानी डाले मिक्सर से बारीक पीस लीजिये
. दही गुजिया के लिये दाल एकदम गाड़ी होनी चाहिये.
आपकी पिसी दाल यदि गाड़ी नहीं हो तो इसमें थोड़ा बेसन भी मिला सकते हैं
लेकिन अधिक बेसन से दही गुजिया  मुलायम नहीं बनतीं.
पिसी हुई दाल को किसी बर्तन में निकालिये और हाथ से मथिये. गुझिया बनाने के लिये दाल तैयार हो गयी है.
काजू और चिरोंजी किशमिश एक साथ सबको मिला लीजिये.
कढ़ाई में तेल डालकर गरम कीजिये.
एक एसी कटोरी लीजिये जिसका व्यास करीब 3 इंच हो, उसके ऊपर धुला हुआ पतला गीला कपड़ा या रूमाल इस तरह लगाइये और पीछे की ओर से एक हाथ से पकड़ लिजिये. हाथ से एक नीबू के बराबर दाल निकालिये, कपड़े के ऊपर गोल करके रखिये. अब इसे पानी में भीगीं उंगलियों की सहायता से 2 1/2 या 3 इंच के व्यास में गोल बड़ा कर लीजिये.  आधी चम्मच मेवे दाल के गोले के ऊपर रखिये, और एक तरफ से उठाइये, आधा गोला बनाते हुये चिपका दीजिये, यह गुझिया तैयार हो गई है तलने के लिये.
वैकल्पिक रूप से आप चकला के ऊपर गीला कपड़ा बिछा कर उस पर दाल को उंगलियों से गोल आकार दें, भरावन भरें व कपड़े को उलट कर गुझिया का आकार दे दें.
गुझिया को गरम तेल में डालिये, दूसरी गुझिया तैयार कीजिये और तेल में डालिये पलट पलट कर हल्का ब्राउन होने तक तलिये.  तली हुई गुझिया निकाल कर प्लेट या थाली में रखिये.  इसी तरह से सारी गुझिया बनाइये और तेल में डाल कर तल कर निकाल कर रखिये. सारी गुझिया बन कर तैयार हो गय़ीं हैं.
दही को चलनी में डाल कर पानी निचोड़ दीजिये,  गाड़े दही को फैट कर नमक मिला लीजिये.
किसी बड़े बर्तन में गरम पानी इतना लीजिये कि गुझिया डूब सकें. पानी में स्वादानुसार नमक मिला दीजिये और गुझिया डाल कर डुबा दीजिये,  जब गुझियां फूल जाय ( 20-25 मिनिट लग जाते हैं) पानी से एक गुझिया निकालिये हाथ पर रखिये दूसरे हाथ से दबाकर अतिरिक्त पानी निकाल दीजिये, सारी गुझियां इसी तरह से निकाल कर प्लेट में लगाइये.
अब इन गुझियों को दही में डुबा कर निकाल कर प्लेट  में लगाइये तथा ऊपर से भुना जीरा, लाल मिर्च और चाट मसाला छिड़किये.  उरद दाल की दही गुझिया खाने के लिये तैयार है,

बेसन मसाला सेव

बेसन मसाला सेव-

बाजार में कई तरह के बेसन के से़व मिलते है. ये अलग अलग मसालों और दालों के आटे मिला कर बनाये जाते हैं. लेकिन सिर्फ बेसन और मसालों को मिलाकर बनाये कुरकुरे सेवों (Besan Masala Sev ) का स्वाद अलग होता है. इन्हें आप घर में भी बड़ी आसानी से बना सकते हैं. आइये आज हम बेसन के नमकीन सेव बनायें.
आवश्यक सामग्री -
बेसन- 2 कप
तेल- ¼ कप (बेसन गूंथने के लिए)
बेकिंग सोडा- ¼ छोटी चम्मच से कम
मसाले- 10 से 12 काली मिर्च, 4 से 5 लौंग, 1 इंच दालचीनी का टुकड़ा (पिसे हुए)
नमक- ½ छोटी चम्मच या स्वादानुसार
तेल- सेव तलने के लिए
विधि -
बेसन गूंथिए
बेसन में बेकिंग सोडा, अजवायन (मसलकर), मसाले और नमक डालकर सभी सामग्रियों को मिला लीजिए. फिर, इसमें तेल भी डालकर मिक्स कर दीजिए. गरम पानी की सहायता से एकदम नरम आटा चपाती के आटे से भी नरम आटा गूंथ लीजिए. गुंथे आटे को 10 मिनिट तक फूलने के लिए रख दीजिए.
कढ़ाही में तेल डालकर गरम कर लीजिए. इसी बीच, सेव मशीन में मोटे छेद वाली जाली लगाइए. हाथ को तेल से थोड़ा सा चिकना करके थोड़ा सा गुंथा बेसन लेकर रोल बनाइए और मशीन के कन्टेनर में भर लीजिए. मशीन के कवर को मशीन पर फिट कीजिए.
सेव तलिए
सेव तलने के लिए डालने से पहले तेल चैक कर लीजिए. इसके लिए जरा सी बेसन की गोली तेल में डालकर देखिए कि यह तुरंत सिककर ऊपर आ रही है, तो तेल पर्याप्त गरम है. अब, मशीन को कढ़ाही के थोड़ा ऊपर रखकर पिस्टन को दबाइए, सेव अपने आप मशीन से निकलकर कढ़ाही में गिरने लगेंगे. जितने सेव कढ़ाही में आ जाएं, अतने सेव डालकर मशीन को साइड में रख दीजिए. जैसे ही सेव तैरकर ऊपर आएं, वैसे ही इन्हें पलट दीजिए और गैस कम कर दीजिए ताकि ये करारे हो जाएं.
तले हुए सेव को निकालकर प्याले पर रखी छलनी में डाल दीजिए जिससे इनका अतिरिक्त तेल निकलकर प्याले में चला जाए. बाकी गुंथे बेसन से भी इसी प्रकार सेव बनाकर तल लीजिए.
जब मशीन खाली हो जाए, तब नीचे से खोलकर कवर हटा दीजिए और मशीन का लीवर ऊपर खींच लीजिए और कन्टेनर में फिर से बेसन् भर लीजिए और उपरोक्त विधि के अनुसार ही सेव बनाकर तल लीजिए.
नमकीन मसाला सेव तैयार हैं. आप इन्हें ऎसे ही या इन पर थोड़ा सा चाट मसाला बुरककर सर्व कीजिए. मसाला सेव को 1 से 2 घंटे खुली हवा में रहने दे और अच्छे से ठंडा होने के बाद किसी भी कन्टेनर में भरकर रख दीजिए, फिर 2 से 3 महीने तक सुबह या शाम की चाय के साथ कभी भी कन्टेनर से सेव निकाले और खाएं.
सुझाव
सेव को ज्यादा देर तक ना सेके वरना ये सख्त हो सकते हैं.
अगर आप और तीखे मसाला सेव बनाना चाहते हैं, तो ¼ छोटी चम्मच काली मिर्च पाउडर और अपने स्वादानुसार लाल मिर्च पाउडर भी डाल सकते हैं.

सांभर

सांबर रेसिपी--

सांबर परम्परागत तमिल भोजन का प्रमुख हिस्सा है. गरमा गरम सांबर से भुने हुये मसालों की महक आपको अपनी ओर खींच ही लेगी.
चाहे चावल हों, बड़ा, दोसा,  इडली, रवा इडली सांबर सभी के साथ खाया जाता है. यह कई तरीके से बनाया जाता हैं.  इसमें विशेष सब्जियां कटहल या  मुनगा डालकर इसे अलग स्वाद भी दे सकते हैं.  इसे बनाने में अरहर (तूअर) की दाल और सब्जियों प्रयोग किया जाता है.  यह स्वादिष्ट होने के साथ साथ पौष्टिक भी है.   तो आइये आज हम सांबर बनायें.
आवश्यक सामग्री--
अरहर की दाल - 100 ग्राम (1/2 कप )
लौकी - 250 ग्राम (कटे हुये टुकड़े 1 कप)
बैगन - 1-2 छोटे
भिण्डी - 4-5
टमाटर - 3-4
हरी मिर्च - 2
अदरक - 1 1/2 इंच लम्बा टुकड़ा
इमली का पेस्ट - 1 छोटी चमच्च
नमक स्वादानुसार
सांबर मसाला पाउडर--
लाल मिर्च - 2 - 3
साबुत धनिया - 2 छोटी चम्मच
मैथी के दाने - 1/2 छोटी चम्मच
हल्दी पाउडर - 1/2 छोटी चम्मच
चना दाल - 1 एक छोटी चम्मच
उरद दाल _ 1 एक छोटी चम्मच
हींग - 2 पिंच
जीरा - आधा छोटी चम्मच
सरसों - आधा छोटी चम्मच
काली मिर्च -  10-12
बड़ी इलाइची -2
लोंग - 2-3
दाल चीनी - 1/2 इंच टुकड़ा
तेल - 1 छोटी चम्मच
तड़के के लिये
तेल -1- 2 टेबिल स्पून
राई - 1 छोटी चम्मच
करी पत्ता - 15-20
विधि
अरहर की दाल को धोकर 1-2 घंटे के लिये पानी में भिगो दीजिये (दालें पहले से पानी में भिगो कर पकाने से जल्दी पकती है, और स्वादिष्ट भी हो जाती है).
सांबर पाउडर बनाइये.
छोटी कढ़ाई को गरम कीजिये, तेल डाल दिजिये,  चना उरद दाल, और मैथी के दाने डाल कर हल्का ब्राउन होने तक भूनिये.  जब ये हल्के भुन जायें तो इनमें धनिया, जीरा, हींग, सरसों, काली मिर्च, लोंग, दालचीनी और लाल मिर्च मिला कर मसालों को हल्का ब्राउन होने तक भूनिये, हल्दी पाउडर डालकर थोड़ा सा और भून लीजिये.  ठंडा कीजिये, बड़ी इलाइची भी छील कर मिला दीजिये और पीस लीजिये.  सांबर मसाला पाउडर आप इस्तेमाल के लिये एकसाथ भी बना कर रख सकते हैं , लेकिन अधिक समय तक रखे गये पिसे मसाले अपनी महक खो बैठते हैं . ताजा भुने हुये मसालों से बनी सांबर में जो स्वाद और महक होती है वह अधिक समय तक रखे मसालों से नहीं आती.
टमाटर, हरी मिर्च और अदरक को पीस कर पेस्ट बना लीजिये.
दाल को कुकर में दुगने पानी के साथ डालिये,  एक सीटी आने के बाद 4-5 मिनिट तक धीमी गैस पर पकाइये, गैस बन्द कर दीजिये.
लौकी, बैगन और भिण्डी को धोकर 1 इंच लम्बे टुकड़ों में काट लीजिये.  स्वाद के अनुसार नमक और 3-4 टेबिल स्पून पानी डाल कर, सब्जियों के नरम होने तक पकने दीजिये.
कढ़ाई में तेल डाल कर गरम कीजिये.  गरम तेल में राई डालिये, राई तड़कने के बाद करी पत्ता डाल कर भूनिये.  टमाटर का पेस्ट डाल कर तब तक भूनिये जब तक कि मसाले के ऊपर तेल न तैरने लग जाय.  अब इस मसाले में सांबर मसाला डाल कर 1 मिनिट भून लीजिये.
कुकर का प्रेशर खतम होने के बाद, कुकर खोलिये, दाल को मैस कर लीजिये,  दाल, में टमाटर का भुना हुआ मसाला,और सब्जियां मिलाइये,  आपको जितना गाढ़ा सांबर चाहिये, उसके अनुसार पानी डाल दीजिये, नमक और इमली का पेस्ट मिला दीजिये.  उबाल आने के बाद सांबर को 3-4 मिनिट तक पकाइये.  सांबर बनकर तैयार हो गया है.
सांबर को किसी प्याले में निकालिये, हरे धनिये के पत्ते डालकर सजा दीजिये,  गरमा गरम सांबर इडली, दोसा या अपने मन पसन्द रैसिपी के साथ परोसिये और खाइये.
नोट
अगर आप प्याज वाला सांबर खाना चाहते हैं, तब राई और पत्ते डालने के बाद, एक बारीक कटी प्याज डालकर, हल्का गुलाबी होने तक भूनिये, अब टमाटर, हरी मिर्च का पेस्ट डालकर मसाला भूनिये, बाकी उपरोक्त विधि से सांबर बना लीजिये.

कुरकुरे चना मसाला

कुरकुरे चना मसाला -

क्या आपने खोखले चने खाये हैं? खोखले चना नमकीन  बेहद कुरकुरे और स्वाद में लाजवाब होते हैं. बचपन में तो हमारे यहां चना खोखले कुरकुरे अक्सर बना करते थे. आइये आज हम नमकीन कुरकुरे चना मसाला बनायें.
आवश्यक सामग्री -
काबुली चना - 200 ग्राम (एक कप)
तेल - चने तलने के लिये
चने के लिये मसाला
नमक - स्वादानुसार ( 3/4 छोटी चम्मच)
काली मिर्च - 1/4 छोटी चम्मच
लाल मिर्च -  1/4 छोटी चम्मच
अमचूर पाउडर - आधा छोटी चम्मच
धनियां पाउडर - आधा छोटी चम्मच
हींग - 1 पिंच
विधि -
काबुली चने धोइये, और 5-6 घंटे या रात भर के लिये पानी में भिगो दीजिये.
चने से अतिरिक्त  पानी निकालिये, चने धोइये और कुकर मे डालिये, 1 कप पानी मिलाइये और उबालने के लिये गैस फ्लेम पर रखिये.कुकर में जैसे ही प्रेशर बनने लगे और सीटी आ जाय गैस बन्द कर दीजिये ताकि चने पूरी तरह से नरम न होकर हल्के नरम हो जायें.  कुकर खुलने का इन्तजार नहीं करेंगे, 3 मिनिट बाद चने निकाल कर चलनी में रखिये, सारा पानी निकल जाने दीजिये.
उबले हुये चने मोटे साफ कपड़े पर डाल कर 2-3 घंटे तक छाया में रहने दीजिये ताकि इनका अतिरिक्त पानी सूख हो जाय.
मोटे तले की कढ़ाई में  तेल डाल कर गरम कीजिये, अच्छे गरम तेल में इतने चने डालिये कि चने तेल में डुबे रहें और जैसे ही चने थोड़े सिक जायं, गैस मध्यम कर लीजिये, चने को करछी से थोड़ी देर देर में चलाइये, 3-4 मिनिट में चने हल्के होकर तेल के ऊपर तैरने लगेगे़.  थोड़ी देर में सारे चने तेल के ऊपर तैर रहे होंगे,  इन चनों को अभी ब्राउन होने में थोड़ा और समय लगना हैं, चनों को ब्राउन और कुरकुरे होने तक तलिये.  तले हुये चने निकाल कर चलनी में रखिये, जिसके नीचे प्लेट या थाली रखी हो(चनों से निकाल हुआ अतिरिक्त तेल थाली में इकठ्ठा हो जायेगा). सारे चने इसी तरह तल कर तैयार कर लीजिये.
चनों को इस तरह से भिगोया जाता है तो पानी सोखने के कारण ये आकार में बड़े हो जाते है, जब इन्हें उबाल कर तला जाता है  तो इनका आकार तो वही रहता है लेकिन पानी उड़ जाने के कारण अन्दर से खोखले जैसे हो जाते है जो बेहद कुरकुरे और स्वादिष्ट होते हैं.  इन्हें चना खोखला नमकीन भी कहा जाता है.
तलने के बाद इन कुरकुरे चनों में दिये गये मसाले को बारीक पीस कर मिलाइये.  लीजिये कुरकुरे चना मसाला तैयार है.  कुरकुरे चना मसाला एअर टाइट कन्टेनर में भर कर रख लीजिये, जब भी आपका मन करे, 2 महिने तक, कुरकुरे चना मसाला कन्टेनर से निकालिये और गरमा गरम चाय के साथ खाइये.

सांभर वड़ा रेसिपी

सांबर वड़ा-


सांबर वड़ा (Samar Vada) को मेदू वड़ा भी कहते हैं, ये दक्षिण भारतीय खाना है लेकिन सारी दुनियां में इसकी धूम है, ये बहुत पसन्द किया जाता है. गरमा गरम सांबर में डूबा हुआ फूले फूले दाल का वड़ा (Vada) और इसकी विशुद्ध भारतीय महक का कोई जबाब नहीं.
आप भी अपने शहर के मनपसन्द रेस्तरां में सांबर वड़ा (Samber Vada), सांबर इडली (Samber Idli) या सांबर दोसा (Samber Dosa) खाने जाते होगें.   आप सांबर वड़ा छुट्टी के दिन नाश्ते में या अपने खास मेहमानों के आने पर और अपनी किसी पार्टी के लिये बना सकते हैं. सांबर वड़ा को उरद की दाल से या उरद और मूंग दाल मिला कर, या उरद और चना दाल मिला कर बनाया जाता है.
आइये हम सांबर बड़ा बनाना शूरू करें.
आवश्यक सामग्री :
उरद धुली दाल - 200 ग्राम (1 कप)
मूंग या चना दाल - 100 ग्राम (आधा कप)
नमक - स्वादानुसार (3/4 छोटी चम्मच)
अदरक - 2 इंच लम्बा टुकड़ा( कद्दूकस कर लीजिये)
हरी मिर्च - 2-4 (बारीक कतर लीजिये)
करी पत्ता या हरा धनियां - 1 टेबल स्पून ( कटा हुआ)
तेल - बड़ा तलने के लिये
विधि:
उरद दाल और मूंग या चना दाल को धोइये और 4-5 घंटे या पूरी रात के लिये पानी में भिगो दीजिये.
दाल को पानी से निकालिये, एक बार फिर से धो लीजिये, भीगी हुई दालों को बिना पानी डाले या बहुत ही कम पानी डाल कर पीस लीजिये. पानी इसमें कम से कम ही होना चाहिये. दाल को बहुत अधिक बारीक भी मत कीजिये.
पिसी हुई दाल में नमक, अदरक, हरी मिर्च और हरा धनियां मिला कर अच्छी तरह फैटिये.  दाल को आप जितना फैटेगे बड़ा उतने ही मुलायम बनेंगे. सांबर वड़ा बनाने के लिये मिश्रण तैयार है.
इस मिश्रण से वड़ा को आकार आप अपने हाथों पर ही दे सकते हैं या किसी प्लास्टिक शीट का भी इस्तेमाल कर सकते हैं.  दक्षिण भारत में वड़े बनाने के लिये प्लास्टिक शीट की जगह केले के पत्तों का भी प्रयोग करते हैं.
कढ़ाई में तेल डाल कर गरम कीजिये, हाथ की उंगलियों को पानी से भिगोइये, भीगी हुई उंगलिये से थोड़ा सा  दाल का मिश्रण उठाइये, गोल कीजिये और अंगूठे या दूसरे हाथ की उंगली को गड़ा कर एक छेद बना दीजिये, गरम तेल में ये वड़ा तलने के लिये डालिये, कढ़ाई में तेल के हिसाब से 3-4 वड़ा बनाकर एक बार में डालकर तल सकती हैं, वड़े को निचली सतह ब्राउन होने पर पलटिये और दोनों सतह ब्राउन होने तक तल कर निकाल लीजिये. सारे वड़े तल कर इसी तरह निकाल लीजिये. सारे वड़े तैयार हो गये हैं.

वड़े को नारियल की चटनी या मूंगफली की चटनी या भुने चने की चटनी के साथ परोसिये और खाइये
चार सदस्यों के लिये
समय -   1 घंटा, 15 मिनिट

दाल पकवान रेसिपी

दाल पकवान –


दाल पकवान की दाल चने की दाल से बनाई जाती है, और पकवान मैदा की करारी पूरी की तरह होते है. दाल पकवान आप किसी भी छुट्टी के दिन सुबह के नाश्ते में बनाइये सभी को बहुत पसन्द आयेंगे,
दाल पकवान हमने पहली बार अपने भोपाल प्रवास के दौरान सिन्धी परिचित परिवार में खाये थे.  उस दौरान हमारे घर में दाल पकवान ही नहीं मूंगफली की पट्टी, चने की दाल की पट्टी बनने लगे थे. दाल पकवान बनाना बड़ा आसान है, इसको बनाने में समय भी कम ही लगता है. आइये दाल पकवान बनायें.
आवश्यक सामग्री -
पकवान बनाने के लिये आटा लगाने के लिये
मैदा - 200 ग्राम (2 कप)
तेल - 50 ग्राम (1/4 कप )
नमक - 3/4 छोटी चम्मच
जीरा या अजवायन - 1/4 छोटी चम्मच
तेल - तलने के लिये
दाल बनाने के लिये
चने की दाल - 200 ग्राम ( 1 कप )
तेल या घी - 2 - 4 टेबल स्पून
टमाटर - 2 - 3 मीडियम आकार के
हरी मिर्च - 1-2
अदरक - 1- 2 इंच लम्बा टुकड़ा
हींग - 2 पिंच
जीरा - आधा छोटी चम्मच
हल्दी पाउदर - आधा छोटी चम्मच
धनियां पाउडर - 1 1/2 छोटी चम्मच
लाल मिर्च - एक चौथाई छोटी चम्मच
नमक - स्वादानुसार या एक छोटी चम्मच
गरम मसाला - एक चौथाई छोटी चम्मच
हरा धनियां - एक टेबल स्पून (बारीक कतरा हुआ)
विधि -
दाल बना लीजिये
चने की दाल साफ कीजिये, धोइये और 2 घंटे के लिये पानी में भिगा दीजिये.
कुकर में भिगी हुई दाल, 1 1/2 - 2 कप पानी, आधा नमक और आधी हल्दी पाउडर डालिये, कुकर बन्द कीजिये और एक सीटी आने के बाद 3-4 मिनिट तक दाल को पकने दीजिये, गैस फ्लेम बन्द कर दीजिये. कुकर खुलने तक दाल के लिये मसाला तैयार कर लीजिये.
टमाटर धोइये बड़ा बड़ा काट लीजिये, हरी मिर्च धोइये, डंठल तोड़िये, अदरक छीलिये और धो लीजिये.  टमाटर, हरी मिर्च और आधा अदरक पीस लीजिये, बचे हुये अदरक को पतला पतला काट लीजिये.
कढ़ाई में घी डाल कर गरम कीजिये, हींग और जीरा डालकर तड़काइये, क्रमश: हल्दी पाउडर, धनियां पाउडर, टमाटर, मिर्च का पेस्ट और कटे हुये अदरक डालिये, मसाले को तब तक भूनिये जब तक कि वह दानेदार न हो जाय या मसाले के ऊपर तेल तैरने लगे.
कुकर खोलिये, भुने मसाले में दाल मिला दीजिये, अगर आवश्यकता हो तो पानी और लाल मिर्च डाल कर मिलाइये, दाल को 2 मिनिट ढककर, धीमी आग पर पकाइये, उबाल आने पर देखिये दाल एक सार हो गई है  फ्लेम बन्द कर दीजिये दाल में गरम मसाला और हरा धनियां मिला दीजिये.  दाल तैयार हो गई है, और अब पकवान तैयार कर लेते हैं
पकवान बनाइये
मैदा को किसी बर्तन में छान कर निकालिये, मैदा में तेल, जीरा और नमक डाल कर हाथ से अच्छी तरह मिला लीजिये, पानी से पूरी के आटे से थोड़ा सा सख्त आटा गूथिये ( आटा ज्यादा सख्त और ज्यादा नरम नहीं होना चाहिये). गुथे हुये आटे को आधा घंटे के लिये ढककर रख दीजिये.
आटे को तोड़कर छोटी छोटी लोइयां बना लीजिये.   एक लोई उठाइये, गोल 6 - 7 इंच के आकार में पूरी बेलिये, चाकू से इस पूरी में 8 -10 जगह दबा कर निशान डाल दीजिये ताकि यह पूरी फूले नही और खस्ता भी बने.
कढ़ाई में तेल डाल कर गरम कीजिये, पूरी गरम तेल में डालिये और मीडियम आग पर हल्का ब्राउन खस्ता होने तक तलिये, एक एक करके सारी पूरी तल कर निकालिये और किसी प्लेट में नैपकिन पेपर बिछा कर रखिये,  लीजिये ये पकवान तैयार हैं, गरमा गरमा दाल और ये खस्ता पकवान परोसिये और खाइये.
दाल को और अधिक स्वादिष्ट बनाने के लिये, दाल में चाट मसाला और हरा धनियां डाल कर पकवान के साथ परोसिये.

बेसन के गट्टे

मैथी के गट्टे –

मैथी के गट्टे बिना तेल से बनने वाला स्वादिष्ट नाश्ता है, क्या आपने इसे बनाया है?
राजस्थानी बेसन के गट्टे बेहद लोकप्रिय करी है, इन गट्टो की सूखी सब्जी  और बेसन के गट्टे का पुलाव Besan Gatta Rice Pulav बनाते हैं लेकिन इन बेसन के गट्टे में मैथी डाल कर बनायें तो इन मैथी के गट्टे का स्वाद लाजबाव हो जाता है, तो आइये आज सुबह के नाश्ते में हम मैथी के गट्टे बनायें.
आवश्यक सामग्री
बेसन- 2 कप (200 ग्राम)
मेथी- 200 ग्राम
दही- 2 से 3 टेबल स्पून
तेल- 4 टेबल स्पून
हरा धनिया- 2 से 3 टेबल स्पून (बारीक कटा हुआ)
अदरक- 1 इंच टुकडा़ (बारीक कटा हुआ)
हरी मिर्च- 1 (बारीक कटी हुई)
अमचूर- 1/2 छोटी चम्मच
नमक- 1 छोटी चम्मच या स्वादानुसार
हींग- 2 पिंच
बेकिंग सोडा़- 1 पिंच
धनिया पाउडर- 1 छोटी चम्मच
लाल मिर्च पाउडर- 1/2 छोटी चम्मच
राई या सरसों के दाने- 1/4 छोटी चम्मच
जीरा- 1/2 छोटी चम्मच
विधि -
मेथी के डंठल हटा दीजिए, पत्तियों को 2 बार साफ पानी से धोकर छलनी में सूखने रख दीजिए. इनसे पानी सूख जाने के बाद, मेथी के पत्तों को बारीक काट लीजिए.
आटा गूंथिए
बेसन में कटी हुई मेथी, ½ छोटी चम्मच नमक, ¼ छोटी चम्मच से कम लाल मिर्च पाउडर, 1 पिंच हींग, धनिया पाउडर, बेकिंग सोडा़, दही और 2 छोटी चम्मच तेल डाल दीजिए. सारी सामग्रियों को अच्छी तरह मिक्स कर लीजिए. फिर, बेसन को थोडे़ से पानी की सहायता से नरम आटा गूंथ लीजिए. आटा गूंथने में सिर्फ 1 टेबल स्पून पानी लगा है.
गट्टे बनाइए
हाथ पर थोडा़ सा तेल लगाकर आटे से थोडा़ सा आटा निकालिए और दोनो हाथों की हथेलियों से बेलनाकार गोले बना लीजिए. सारे आटे से इसी प्रकार के बेलनाकार गोले बनाकर तैयार कर लीजिए. साथ ही, एक बडे़ बर्तन में 1 लीटर पानी ले लीजिए, जिसमें गट्टे उसमें अच्छी तरह डूब कर उबल सकें.
गट्टे उबालिए
पानी में उबाल आने के बाद गट्टों को उबलते पानी में एक-एक करके डाल दीजिए. बर्तन को प्लेट से आधा ढक दीजिए और तेज आंच पर गट्टों को 3 से 4 मिनिट पानी में उबलने दीजिए. गट्टे को बीच-बीच में चैक करते रहिए.
4 मिनिट बाद ढक्कन हटाकर चैक कर लीजिए. गट्टे पानी में तैरने लगेंगे. बर्तन को दोबारा से ढक दीजिए और तेज आंच पर पानी में उबलने दीजिए. कुछ देर बाद ढक्कन को हटा कर गोले को चैक कीजिए. गोले कुल 17 से 18 मिनिट में अच्छे से उबलकर नरम हो गए हैं. गैस बंद कर दीजिए और इन्हें पानी से निकालकर एक प्लेट में रख लीजिए तथा इन्हें पूरी तरह ठंडा होने दीजिए.
इन्हें ठंडा होने के बाद, प्रत्येक गोले को ½ -3/4 इंच के टुकड़ों में काट लीजिए.
गट्टे फ्राय कीजिए
पैन में 2 से 3 टेबल स्पून तेल डालकर गरम कीजिए, गरम तेल में जीरा और राई डाल कर तड़काइए, गैस को धीमा कर दीजिए. जीरा तड़कने पर इसमें अदरक, हरी मिर्च, बची हुई हींग व नमक, अमचूर और बचा हुआ लाल मिर्च पाउडर डालकर मसाले को चमचे से चला लीजिए. मसाले में गट्टे डालकर अच्छे से मिक्स कर लीजिए ताकि मसाले की परत गट्टों पर आ जाए. गट्टों को 2 मिनिट के लिए पलट-पलट कर क्रिस्प होने तक फ्राय कर लीजिए.
गट्टे तैयार होने के बाद,. गैस‌ बंद करके गट्टे प्लेट में निकाल लीजिए. मेथी के गट्टे को हरे धनिये से गार्निश कीजिए. मसालेदार क्रिस्पी गट्टों को सुबह नाश्ते या शाम को स्नैक्स के रूप में गरमागरम परोसिए और खाइए.
सुझाव
लाल मिर्च पाउडर आप अपने स्वादानुसार कम या ज्यादा डाल सकते हैं. तीखा बिल्कुल भी ना खाते हो, तो लाल मिर्च पाउडर ना डालें.
आप बेकिंग सोडा ना डालना चाहे, तो मत डालिए.
अगर आप मेथी के गट्टे की स‌ब्जी बना रहे हैं, तो ग्रेवी बना लीजिए औऱ ग्रेवी में गट्टे को बिना फ्राय करे ही डाल दीजिए, सब्जी तैयार हो जाएगी.
आटे को ना ज्यादा सख्त और ना ही ज्यादा नरम गूंथे. ये चपाती के आटे जैसा नरम होना चाहिए. गट्टों को उबालते समय ध्यान रखें कि गट्टों को पानी में अच्छे से उबाल आने के बाद एक-एक करके ही डालें. पानी में उबाल हमेशा बने रहे, आंच तेज रखें. अगर पानी में उबाल नही हो और ये गोले डाल दिए जाएं, तो गट्टे पानी में फट भी सकते हैं.
गट्टे उबालते वक्त, बर्तन को प्लेट से पूरी तरह नहीं ढकिए. पूरी तरह ढकने पर पानी बर्तन के बाहर निकल जाएगा.

चावल के पकौड़े

चावल के पकोड़े

चावल तो हम सभी के घर में रोजाना ही बनाये जाते हैं, चावल के पकोड़े भी बनाकर देखिये ये बहुत स्वादिष्ट बनते हैं. चावल के पकोड़े (Rice Pakoda) बनाने के लिये चावल आप बना लीजिये या फिर आपके पास सुबह के खाने में बने चावल बच गये हैं उनसे ये पकोड़े बना लीजिये, तो आइये आज शाम को चाय के साथ चावल के पकोड़े बनायें।
आवश्यक सामग्री -
पके हुये चावल - 2 कप
नमक - स्वादानुसार(आधा छोटी चम्मच)
हरी मिर्च - 2 (बारीक कतरी हुई)
अदरक - आधा इंच लम्बा टुकड़ा(कद्दूकस किया हुआ)
अमचूर पाउडर - 1/4 छोटी चम्मच
लाल मिर्च पाउडर - 1/4 छोटी चम्मच
हरा धनियां - कतरा हुआ 1 टेबल स्पून
बेसन - 1 कप
नमक - स्वादानुसार (1/3 छोटी चम्मच)
लाल मिर्च - 1/4 छोटी चम्मच
धनियां पाउडर - आधा छोटी चम्मच
तेल - पकोड़े तलने के लिये
विधि -
चावल में नमक, हरीमिर्च, अदरक, अमचूर पाउडर, लालमिर्च पाउडर और हरा धनियां डालकर मिला लीजिये.  मिश्रण से एक नीबू के बराबर मिश्रण निकालिये, हाथ से दबाकर गोले बना कर चपटा कर लीजिये, गोल या ओवल कैसा भी जैसा आप चाहें बना कर सारे गोले बना कर रख लीजिये.
बेसन को छान कर बर्तन में निकालिये, नमक, लालमिर्च और धनियां पाउडर डालिये, पानी की सहायता से पकोड़े के लिये मिश्रण तैयार कीजिये, इस मिश्रण को चमचे से 5-7 मिनिट खूब फैटिये.
कढ़ाई में तेल डाल कर गरम कीजिये. एक चावल का गोल उठाइये और बेसन लपेट कर गरम तेल में डालिये, इसी तरह 4-5 चावल के गोले बेसन लपेट कर एक साथ डालिये और चावल के पकोड़े पलट पलट कर ब्राउन होने तक तल लीजिये.
तले हुये पकोड़े प्लेट में नेपकिन पेपर बिछा कर रखिये, सारे पकोड़े इसी तरह तल कर बना लीजिये.
चावल के गरमा गरम पकोड़े हरे धनिये की चटनी, चिल्ली सास या टमाटर सास के साथ परोसिये और खाइये.
चावल के पकोड़े (Rice Magoda) दूसरी तरीके से बनाइये
पके हुये चावल एक कप, बेसन आधा कप, बेसन को छान कर किसी बर्तन में निकालिये, स्वादानुसार नमक, लाल मिर्च और धनियां पाउडर डालिये, पानी की सहायता पकोड़े का घोल तैयार कीजिये, घोल को चमचे से 5 मिनिट तक खूब फैटिये.  इस बेसन के घोल में पके हुये चावल, कतरी हुई हरी मिर्च और कद्दूकस किया हुआ अदरक मिला कर फिर से फैटिये.   पकोड़े बनाने के लिये घोल तैयार है.
कढाई में तेल डालकर गरम कीजिये, चावल का घोल हाथ से उठाइये और अपने मन पसन्द आकार के पकोड़े बनाकर  गरम तेल में डालिये, जितने पकोड़े एक बार में तले जा सकें उतने पकोड़े डाल कर, पकोड़े को पलट पलट कर ब्राउन होने तक तल लीजिये, तले हुये पकोड़े प्लेट में नेपकिन पेपर बिछा कर रखिये और सारे पकोड़े इसी तरह तल कर बना लीजिये.
ये गरमा गरम चावल के पकोड़े बिलकुल दाल के मगोड़े के तरह स्वादिष्ट लगते हैं, इन्हैं हरे धनिये या पुदीना की चटनी, चिल्ली सास या टमाटर सास के साथ परोसिये और खाइये.
चार सदस्यों के लिये,
समय - 30 मिनिट

राज कचोरी रेसिपी

राज कचौरी

राज कचौरी के अन्दर अनेकों स्वाद भरे होते हैं. बाहर से कचौरी का कुरकुरापन लेकिन इसके अन्दर भरे मुलायम पकौड़ी, दही लपेटे आलू, भुजिया, नमकीन खट्टी मीठी चटनियों का सम्मिलित स्वाद. जब तक इसे आप खायें नहीं अनुभव नहीं कर सकते.
एक राज कचौरी आपके शाम के नाश्ते के लिये पर्याप्त और दो कचौरी पूरा पेट भरने के लिये.  होली के पकवानों में आप राज कचौरी को भी सम्मिलित कर सकते हैं. प्रस्तुत है राज कचौरी
आवश्यक सामग्री -
कचौरी के लिये आटा लगाइये.
मैदा  - एक कप (125 ग्राम )
सूजी मोटी-  1/4 कप ( 40 ग्राम)
बेकिंग सोडा - 2 पिंच
तेल  - तलने के लिये
कचौरी भरने के लिये -
मूंग की दाल की पकोड़ियां
उबले आलू -  छोटे छोटे कटे हुये
मूंग  या चना -  उबले हुये
ताजा दही - फैटा हुआ
भुना हुआ जीरा
काला नमक
सादा नमक
लाल मिर्च पाउडर
मीठी चटनी
हरी चटनी
सेव भुजिया
अनार के दाने
विधि--
मैदा और सूजी को किसी बर्तन में निकालिये, बेकिंग सोडा डाल कर मिलाइये. पानी की सहायता से सख्त पूरी की तरह जैसा आटा गूथिये, आटे को मसल मसल कर नरम कीजिये. कचौरी बनाने के लिये आटा तैयार है.
भारी तले की कढ़ाई में तेल डालकर गरम कीजिये.
गूथे गये आटे छोटी छोटी लोइयां तोड़ लीजिये, इतने आटे में 14-15 लोइयां तोड़कर तैयार कर लीजिये, लोइयों को गोल करके कपड़े से ढककर रख लीजिये, ताकि वह सूखे नहीं.  एक लोई उठाइये और सूखे आटे में लपेट कर 3 - 3 .5 इंच के व्यास में बेल लीजिये. बेली हूई कचौरी को गरम तेल में डालिये, कलछी से दबाकर फुलाइये, जैसे ही कचौरी फूल जाय, कचौरी को पलट दीजिये और आग मीडियम कर दीजिये, कचौरी के ऊपर गरम गरम तेल कलछी से डालते हुये, कचौरी को गोल्डन ब्राउन होने तक तलिये.  तली हुई कचौरी किसी प्लेट या डलिया में नैपकिन पेपर बिछा कर रखिये, इसी तरह सारी कचौरी तल कर तैयार कर तैयार कर लीजिये.  राज कचौरी को ठंडा होने के लिये खुला ही छोड़ दीजिये.
कचौरी तैयार हैं, कचौरी में भरने के लिये सारी चीजें भी हमारे पास हैं. जब आप इन कचौरी को खाना चाहते हैं उसी समय इस तरह राज कचौरी को तैयार कीजिये.
कचौरी को पतले तरफ से बीच से तोड़िये और कचौरी के अन्दर ये चीजें भरने के लिये जगह बनाइये, कचौरी को प्लेट में रखिये और इस तरह भरिये, सबसे पहले 2 भीगी हुई मूंग दाल की पकोड़ी डाल दीजिये,  4-5  टुकड़े आलू डालिये, 2 चम्मच उबाले हुये मूंग,   थोड़ा सा भुना जीरा, काला नमक, सादा नमक, लाल मिर्च पाउडर,  दही, मीठी चटनी,  हरी चटनी, सेव भुजिया, अनार दाने, फिर से जीरा पाउडर, और लाल मिर्च, काला नमक, दही, चटनियां डाल कर परोसिये.
लीजिये स्वादिष्ट राज कचौरी तैयार है, खाइये और बताइये कि राज कचौरी कैसी बनी है.
कचौरी में भरने वाली सामग्री में आप अपने अनुसार कम ज्यादा कर सकते हैं और बदल भी सकते हैं, कचौरियां फूलने से रह गई हैं उन्हीं को तोड़कर राजकचौरी के अन्दर भर दीजिये, या चने की जगह उबाले हुये मटर भी डाले जा सकते हैं.
इसी आटे से जो आपने राज कचौरी बनाने के लिये तैयार किया है, आपका मन करे तो गोल गप्पे  (Pani Puri - Gol Gappa) भी बना सकते हैं.  पानी तो जलजीरा पाउडर को पानी में घोलिये मिनटों में तैयार हो जाता है.

कच्चे केले के कुरकुरे चिप्स

कच्चे केले के कुरकुरे चिप्स –

कच्चे केले के नमकीन कुरकुरे चिप्स और गर्म चाय. आप भी इन्हें पसन्द करते होंगे. कच्चे केले के चिप्स तुरन्त तैयार हो जाते हैं आईये आज केले के चिप्स (Raw Banana Chips) बनायें.
आवश्यक सामग्री -
कच्चे केले - 7-8
हल्दी - आधा छोटी चम्मच
नमक - एक छोटी चम्मच
तेल - तलने के लिये
विधि -
किसी बर्तन में इतना पानी ले लीजिये, जिसमें केले के चिप्स डूब सकें, पानी में हल्दी पाउडर और नमक डालकर मिला दीजिये.
केले धोइये और छील लीजिये, छिले हुये केले चिप्स कटर से काट लीजिये और पानी में डुबा दीजिये.  5 मिनिट बाद चिप्स पानी से निकाल कर सूती कपड़े पर डालिये और पानी को अच्छी तरह सुखा लीजिये.
कढ़ाई में तेल डाल कर गरम कीजिये.  पारम्परिक रूप से कच्चे केले कि चिप्स नारियल के तेल में तले जाते हैं लेकिन आप इन्हें रिफाइंड तेल में भी तल सकते हैं.
गरम तेल में थोड़े से कतरे हुये केले डालिये और कुरकुरे होने तल कर प्लेट में निकाल लीजिये.  सारे कतरे केले इसी तरह तल कर तैयार कर लीजिये.  अच्छी तरह ठंडा होने तक इन्हैं खुला ही रखिये.
लीजिये आपके लिये केले के कुरकुरे चिप्स (Kurkure Banana Chips) तैयार है.  आप इन्हैं गरमा गरम चाय के साथ खाइये और बचे हुये चिप्स एयर टाइट  कन्टेनर में भर कर रख दीजिये जब भी आपका मन हो खाइये.   ये केले के चिप्स एक महिने में भी खराब नहीं होगे.

कुरकुरे बेबी कॉर्न

कुरकुरे बेबी कार्न

शाम को चाय के साथ या छुट्टी के दिन सुबह के नाश्ते में कुरकुरे बेबी कार्न (Golden Fried Baby Corn) बनाइये. ये लाजबाव कुरकुरे बेबी कार्न सबको बड़े पसन्द आयेंगे. तो आइये आज शाम चाय के साथ बेबी कार्न कुरकुरे ही बनाते हैं.
आवश्यक सामग्री -
बेबी कार्न - 200 ग्राम  (25 - 30)
नमक - आधा छोटी चम्मच (बेबी कार्न पर छिड़कने के लिये)
मैदा - आधा कप (60 ग्राम)
कार्न फ्लोर - एक टेबल स्पून
दही - 2 टेबल स्पून
हरी मिर्च - 2
अदरक - एक इंच लम्बा टुकड़ा
लाल मिर्च - एक चौथाई छोटी चम्मच से कम (यदि आप तीखा खाना पसन्द करते हैं)
नमक - स्वादानुसार ( आधा छोटी चम्मच)
खाना सोडा - 1 पिंच
तेल - बेबी कार्न कुरकुरे तलने के लिये
विधि -
बेबी कार्न को धोइये और लम्बाई में आधा करते हुये 2 भागों में काट लीजिये.  कटे हुये बेबी कार्न में आधा छोटी चम्मच नमक छिड़क कर मिलाइये और 10 मिनिट के लिये रख दीजिये.
किसी बर्तन में मैदा और कार्न फ्लोर छान कर निकालिये.
अदरक को छील कर धो लीजिये, हरी मिर्च के डंठल तोड़ कर धो लीजिये, दही, अदरक और हरी मिर्च का पीस कर पेस्ट बना लीजिये.
मैदा और कार्न फ्लोर में दही, अदरक, हरी मिर्च का पेस्ट डालिये और पानी की सहायता से गाड़ा(इडली के घोल जैसा) घोल तैयार कर लीजिये.  मैदा के घोल में नमक और खाना सोडा भी डाल कर मिला दीजिये और इस घोल को चमचे से खूब फैटिये.  बेबी कार्न कुरकुरे बनाने के लिये घोल तैयार है.
नमक लगे बेबी कार्न को साफ पानी से धो लीजिये और छलनी में रखिये या थाली में तिरछा करके रख दीजिये ताकि उनसे पानी निकल जाय.
कढ़ाई में तेल डाल कर गरम कीजिये, एक बेबी कार्न का टुकड़ा उठाइये, घोल में डाल कर लपेटिये और गरम तेल में डालिये (तेल गरम हो गया है या नहीं ये देखने के लिये आप गरम तेल में थोड़ा सा मैदा का घोल डालिये, तेल पर्याप्त गरम है तो मैदा का घोल तुरन्त फूल कर तेल के ऊपर तैरने लगेगा).  एक एक करके 4-5 टुकड़े घोल में डुबा कर तेल में डाल दीजिये.  थोड़ी ही देर में ये मैदा के कुरकुरे तेल में तैरते दिखाई देने लगेगे.  इन बेबी कार्न कुरकुरे (Golden Fried Baby Corn) को पलट पलट कर ब्राउन होने तक तलिये और निकाल कर किसी प्लेट पर नैपकिन पेपर बिछा कर उस पर रखिये.  सारे बेबी कार्न कुरकुरे (Golden Fried Baby Corn) इसी तरह तल कर तैयार कर लीजिये.
गरमा गरम बेबी कार्न कुरकुरे (Golden Fried Baby Corn) टमाटर सास, हरे धनिये की चटनी या  टमाटर की चटनी के साथ परोसिये और खाइये.
चार सदस्यों के लिये
समय 50 मिनिट

राम लड्डू रेसिपी

राम लड्डू--
लड्डू सामान्यतया मीठे होते हैं लेकिन राम लड्डू नमकीन होते हैं और हरी चटनी और मूली के लच्छे के साथ खाये जाते हैं . दिल्ली में राम लड्डू का ठेलें आप लगभग हर बाजार में देख सकते हैं, गोल गोल गरमा गरम राम लड्डू कढ़ाई में तलते देख इन्हैं खाने के लिये मन कर जाता हैं.
राम लड्डू (Ram Laddu) मूंग और चने की दाल से बनाये जाते हैं.  मूंग दाल  से मगौडे भी बनाये जाते हैं लेकिन मगौड़े जहां कुरकुरे होते हैं राम लड्डू कुरकुरे नहीं होते. आईये आज हम राम लड्डू (Ram Laddoo) बनायें.
आवश्यक सामग्री
धुली मूंग दाल - 200 ग्राम (1 कप)
चना दाल - 100 ग्राम ( आधा कप )
नमक - 3/4 छोटी चम्मच ( स्वादानुसार)
हरी मिर्च - 2-3 ( बारीक कतरी हुई)
अदरक - एक इंच मोटा टुकड़ा ( बारीक कतरा हुआ)
हरा धनियां -  एक टेबल स्पून(बारीक कतरा हुआ)
रिफाइन्ड तेल - तलने के लिये
विधि - How to make Ram Laddu
चने और मूंग की दाल को साफ कर लीजिये, धोइये और पीने के पानी में 5-6 घंटे के लिये भिगो दीजिये.  दाल से अतिरिक्त पानी निकाल दीजिये और बिना पानी डाले पीस लीजिये (दाल को एकदम बारीक मत पीसिये).
पिसी हुई दाल को किसी बर्तन में निकालिये और नमक डाल कर अच्छी तरह खूब फैट लीजिये, फैटी हुई दाल मे हरी मिर्च, अदरक और हरा धनियां मिलाइये.
भारी तले की कढ़ाई या नानस्टिक कढ़ाई में तेल डालकर गरम कीजिये.  थोड़ी सी दाल को हाथ से उठाइये, गोल आकार देते हुये गरम तेल में डालिये, एक एक करके 7-8 या जितने राम लड्डू कढ़ाई में आ जाय डाल दीजिये.  मध्यम और धीमी आग पर इन्हैं पलट पलट कर ब्राउन होने तक तलिये.  तले हुये राम लड्डू प्लेट में निकाल लीजिये और अब फिर से इसी तरह हाथ से दाल उठाकर गरम तेल में डालिये और उन्हैं पहले की तरह तलिये.  इसी प्रकार सारी दाल के राम लड्डू बनाकर तैयार कर लीजिये.
मूली के तैयार लच्छे (4-5 मूली को कद्दूकस कर लीजिये, कद्दूकस की हुई मूली में कतरा हुया एक टेबल स्पून हरा धनियां मिला दीजिये )
हरे धनिये की हरी चटनी और मूली के लच्छे के साथ गरमा गरम राम लड्डू परोसिये और खाइये.
चार सदस्यों के लिये
समय - 45 मिनिट

आलू सेव रेसिपी

आलू के सेव -

आलू के सेव दो तरह से बनाये जाते हैं. उबले हुये आलू को कद्दूकस करके सुखा कर बनाये आलू के सेव (Potato Sev) और उबले हुये आलू में बेसन मिला कर तल कर बने आलू भुजिया (Aloo Bhujiya) सेव. 
उबले आलू कद्दूकस कर के बनाये सेव आलू के मौसम बनाकर आसानी से स्टोर कीजिये और जब भी मन चाहे कुछ मिनटों में तल कर खाईये.
आवश्यक सामग्री
आलू - 3-4 या आप जितने चाहें.
विधि - How to make Potato Sev
आलू के सेव बनाने के लिये आलू पका हुआ चिकनी स्किन का और बड़े आकार का लेना चाहिये.
आलू को धोइये, कुकर में डालिये, एक गिलास पानी के साथ उबालने के लिये रख दीजिये, एक सीटी आने के बाद, 1 - 2 मिनिट धीमी गैस पर आलू उबालिये. उबले हुये आलू कुछ कड़क ही हों लेकिन कच्चे भी न हों, नहीं तो सेव काले हो जायेंगे, आलू के ज्यादा पकने पर, सेव बनाना मुश्किल हो जाता है.
कुकर खोलिये, आलू निकालिये, ठंडा होने पर आलू को छील लीजिये.
3-4 थालियों में थोड़ा तेल लगाकर चिकना कीजिये या किसी बड़े पोलिथिन सीट को किसी कपड़े पर बिछा कर चिकना कर लीजिये.
कद्दू कस लीजिये, कद्दूकस को थाली या पोलिथिन सीट पर रखिये और छिले आलू को कद्दूकस के ऊपर रखिये, कस कर सेव बनाइये, कद्दूकस को वायें हाथ में पकड़िये और सीधे हाथ से आलू को पकड़ कर कसिये, हाथ की पोजीसन को हटाकर बदलते रहिये और आलू को कद्दूकस करते जाइये, आलू के सेव एक जगह इकठ्ठे नहीं हों, वह अलग अलग गिरने चाहिये. इसी तरह जितने भी आलू हों, सारे आलू को कद्दूकस करके सेव वना लीजिये.
एक दिन की धूप में ही ये सेव काफी हद तक सूख जाते हैं, आलू के सेव को इकठ्ठा कर लीजिये, इन सेव को फिर से धूप में रखकर दूसरे दिन की धूप और लगा दीजिये.
आलू के सेव बन कर,सूख कर तैयार हैं, इन्है आप किसी भी डिब्बे में भर कर 6 माह तक रख सकते हैं. जब भी आपको आलू के सेव खाने हों, कन्टेनर से सेव निकालिये, कढ़ाई में तेल डालकर गरम कीजिये, तेल का तापमान ज्यादा गरम न हो, आलू के सेव आधा मिनिट से भी कम समय में तल जाते हैं, गरम तेल में आलू के सूखे सेव डालिये, कलछी से घुमाते हुये, सेव के सफेद होकर फूलने तक, तल कर निकाल लीजिये. आप सारे जितने चाहें उतने सेव तल कर प्लेट या थाली में इसी प्रकार तल कर रख लीजिये.
तले सेव पर चाट मसाला या नमक और थोड़ी सी लालमिर्च या नमक और थोड़ी सी काली मिर्च डाल कर मिलाइये. आलू के कुरकुरे सेव खाने के लिये तैयार हैं. आलू के तले हुये सेव के साथ गरमा गरम चाय बनाना मत भूलिये.
सुझाव:
सूखे आलू के सेव आप तल कर, लाहोरी नमक और काली मिर्च मिलाकर व्रत में खाने के लिये बना सकते हैं.
आलू के सेव अच्छी तरह सूखने पर ही कन्टेनर में भर कर रखिये, नहीं तो ये सेव लाल होकर खराब हो सकते हैं.

Monday, 8 May 2017

कुरकुरे आलू के पकौड़े

आलू पकोड़ा कुरकुरे--आलू पकोड़ा कुरकुरे (Potato Finger Kurkure) बड़े स्वादिष्ट बनते हैं. आलू पकोड़ा कुरकुरे (Potato Finger Kurkure) पकोड़े शाम को चाय के साथ बनाकर खाइये, आपको बेहद पसन्द आयेंगे.
बेसन के साथ कुरकुरी सूजी में लिपटे नरम नरम आलू से बने गरम गरम आलू पकोड़ा कुरकुरे (Potato Finger Kurkure) कसून्दी (Mango Kasoondi) के साथ नाश्ते में खाने से पहले घर में आये मेहमानो को भी परोसा जा सकता है.
आवश्यक सामग्री -
आलू - 4 बड़े आकार के
बेसन - 1  कप
सूजी - 1/4 कप
नमक - स्वादानुसार (1/2 छोटी चम्मच)
लाल मिर्च - एक चौथाई छोटी चम्मच
धनियां पाउडर - आधा छोटी चम्मच
अदरक पेस्ट - 1 छोटी चम्मच
हरी मिर्च पेस्ट  - 1/2 छोटी चम्मच
चाट मसाला - 1 छोटी चम्मच
तेल - पकोड़े तलने के लिये
विधि
बेसन और सूजी को किसी बर्तन में छान कर घोलिये. घोल को अच्छी तरह चमचे से फैंट लीजिये. घोल में गुठलियां न रहें. नमक, लालमिर्च, अदरक पेस्ट, हरी मिर्च पेस्ट और धनियां पाउडर डाल कर मिला दीजिये, और अच्छी तरह फैट लीजिये.
आलू को छीलिये, धोइये और आलू को फिन्गर चिप्स के आकार में काट लीजिये.
कढ़ाई में तेल डाल कर गरम कीजिये. आलू के फिंगर चिप्स उठाइये और सूजी बेसन के घोल में लपेटिये और गरम तेल में डालिये. 8-10 जितने आलू पकोड़ा कुरकुरे आ सके डाल दीजिये. अब इन पकोड़े को कलछी से पलट पलट कर ब्राउन होने तक तल कर किसी प्लेट में निकाल लीजिये. बचे हुये आलू पकोड़ा कुरकुरे फिर से इसी तरह तेल में डालिये और तलिये. सारे आलू पकोड़ा कुरकुरे इसी तरह तल कर निकाल लीजिये. पकोड़े पर चाट मसाला छिड़क दीजिये.
गरमा गरम आलू पकोड़ा कुरकुरे (Potato Finger Kurkure) तैयार हैं, आलू पकोड़ा कुरकुरे (Potato Finger Kurkure) हरे धनिया की चटनीया कसून्दी (Kasoondi के साथ खाइये.

सिंघाड़े के आटे के नमकपारे

सिघाड़े के आटे के नमकपारे--

व्रत में खाने के लिये आप सिघाड़े के आटे के नमक पारे या शकरपारे बना भी बना सकते हैं. आइये आज सिघाड़े के आटे या कुटू के आटे से नमक पारे ( Kutu Namakpare) बनायें.
आवश्यक सामग्री -
सिघाड़े का आटा - 200 ग्राम (एक कप)
नमक - छोटी आधा चम्मच
जीरा  - छोटी एक चम्मच
हरा धनियां - आधा टेबल स्पून कतरा हुआ
तेल तलने के लिये
विधि - How to make Singhara Namak pare
सिघाड़े के आटे को छान कर किसी बर्तन में निकाल लीजिये.  आटे  में नमक, जीरा, हरा धनिया और 2 चम्मच तेल डाल कर अच्छी तरह मिला लीजिये.  पानी की सहायता सख्त आटा गूथिये.  आटे को 20 मिनिट के लिये ढककर रख दीजिये.
गुथे हुये आटे को मसल कर ठीक कीजिये, इस आटे से चार बड़ी लोई बना लीजिये.  एक लोई को 6-7 इंच के व्यास में मोटा बेल लीजिये और चाकू से नमकपारे काट लीजिये.
कढ़ाई में तेल डाल कर गरम कीजिये और गरम तेल में नमक पारे डालिये और मीडियम आग पर ब्राउन होने तक नमक पारे तलिये, तले हुये नमक पारे निकाल कर प्लेट में रखिये. सारे नमकपारे इसी तरह बना कर तैयार कर लीजिये.
ये सिघाड़े के नमकपारे आप बनाकर, ठंडे करके एअर टाइट कन्टेनर में रख लीजिये और जब आपको खाने हों तब निकालिये और खाइये. नमकपारे कई दिन रख कर खाये जा सकते हैं.

क्रीमी पास्ता रेसिपी

क्रीमी पास्ता -

कोई भी खाना जब सरहदों को पार करके दूसरे देश में जाता है तो वहां के स्वाद के अनुसार परिवर्तित हो जाता है. पास्ता भी इसका अपवाद नहीं है. व्हाइट सास और टोमाटो सास के बजाय क्रीम में बना पास्ता मेरे सारे परिवार को इटैलियन पास्ता के बजाय अधिक पसंद आता है. आप भी इसे बनाकर देखिये.
आवश्यक सामग्री -
पास्ता - 200 ग्राम (2 कप)
पत्ता गोभी - 1 कप (बारीक कटा हुआ)
गाजर और शिमला मिर्च - 1 कप (बारीक कटे हुये)
ताजे हरे मटर के दाने - आधा कप
मक्खन - 2 टेबल स्पून
क्रीम - 100 ग्राम (आधा कप)
नमक - स्वादानुसा (1 छोटी चम्मच)
अदरक - एक इंच लम्बा टूकड़ा (कद्दूकस कर लिया)
काली मिर्च - एक चौथाई छोटी चम्मच से कम
नीबू - एक छोटा सा
हरा धनियां - एक टेबल स्पून (बारीक कटा हुआ)
विधि -
पास्ता पैकेट से प्लेट में निकाल कर रख लीजिये.
किसी बर्तन में इतना पानी (पास्ता से तीन गुना पानी) लेकर गरम करने रखिये कि पास्ता उसमें अच्छी तरह उबाला जा सके. पानी में आधा छोटी चम्मच नमक और 1-2 छोटी चम्मच तेल डाल दीजिये. पानी में उबाल आने के बाद, पास्ता पानी में डालिये और उबलने दीजिये. थोड़ी थोड़ी देर बाद पास्ता को चमचे से चलाते रहिये. पास्ता में उबाल आने पर आग धीमी कर दीजिये, लगभग 15-20 मिनिट में पास्ता पक जाता है, पास्ता को हाथ से दबाकर देख सकते हैं, पास्ता नरम हो गया है.
पास्ता उबालने रख कर सारी सब्जियां बारीक काट कर तैयार कर लीजिये.
उबले हुये पास्ता को छलनी में छान कर पानी निकाल दिया और उसके ऊपर ठंडा पानी डाल दिया ताकि उसका चिपचिपा पन निकल जाय.
कढाई में मक्खन डालकर गरम करने रखिये, अदरक और सारी सब्जिया डाल दीजिये, सब्जियों को चमचे से चलाया और ढककर 2 मिनिट तक पका लीजिये.  सब्जियां थोड़ी नरम हो जाने के बाद, क्रीम, नमक और काली मिर्च डालकर अच्छी तरह मिला दीजिये और चमचे से चलाते हुये 1-2 मिनिट पका लीजिये. अब पास्ता डाल कर मिलाइये और चमचे से चलाते हुये 2 मिनिट पास्ता को पका लीजिये. आग बन्द कर दीजिये. पास्ता में नीबू का रस और हरा धनियां डाल कर मिला दीजिये.
लाजबाव क्रीमी पास्ता तैयार है. गरमा गरम पास्ता परोसिये और खाइये. यह बताना न भूलिये कि आपको ये क्रीमी पास्ता कैसा लगा.

गुजराती फाफड़ा रेसिपी

फाफड़ा -

फाफडा गुजरात का पसंददीदा स्ट्रीट फूड है. फाफडा के साथ जलेबी (fafda and jalebi) अहमदाबाद के हर कोने में मिल जाते हैं. आईये आज घर पर फाफडा बनायें
आवश्यक सामग्री -
बेसन - 250 ग्राम (2 कप)
नमक - स्वादानुसार ( आधा छोटी चम्मच)
खाना सोडा - आधा छोटी चम्मच
लाल मिर्च - एक चौथाई छोटी चम्मच से कम (यदि आप चाहें)
अजवायन - आधा छोटी चम्मच
तेल - 4-5  टेबल स्पून
फाफड़ा तलने के लिये - तेल
विधि -
किसी बर्तन में बेसन को छान कर निकाल लीजिये. बेसन में नमक, खाना सोडा, लाल मिर्च, अजवायन और तेल डालिये, सारी चीजों को हाथ से अच्छी तरह मिला लीजिये.
पानी की सहायता से नरम आटा गूंथिये, आटे को मसल मसल कर, उठा कर, पलट कर, 6/7 मिनिट तक गूथिये (आटा लगाने में आधा कप से कम पानी लगता है). गुंथे हुये आटे को आधा घंटे के लिये ढककर रख दीजिये.
आधा घंटे बाद आटे को अच्छी तरह मसल कर और चिकना कीजिये, अब इस आटे को तोड़कर छोटी छोटी (एक बड़े बेर के बराबर की) लोई बना लीजिये.
फाफड़ा बेलने के लिये लकड़ी का चिकना बोर्ड लीजिये, एक लोई को थोड़ा लम्बा कीजिये और बोर्ड के ऊपर हथेली के नीचे रखिये, हथेली से दबाब देते हुये फापड़ा आगे बड़ाइये, पतली पत्ती को बेले हुये फाफड़ा के नीचे लगाते हुये उसे निकालिये
बोर्ड से निकाले गये फाफड़ा को चिकनी थाली में रखिये, एक एक करके सारे फाफड़ा बनाकर थाली में रख लीजिये.
कढ़ाई में तेल डालकर गरम कीजिये, गरम तेल में 1- 2 -3 फाफड़ा उठा कर डालिये और कलछी से दबाकर फाफड़ा के हल्के ब्राउन होने और क्रिस्प होने तक तल कर, प्लेट में निकाल कर रखिये. सारे फाफडा इसी तरह तरह तल कर तैयार कर लीजिये. अगर आप जल्दी जल्दी फाफड़ा बना पाते हैं तब आप फाफड़ा बनाइये और कढ़ाई में किये गये गरम तेल में डालकर साथ साथ ही तलते भी जाइये, नहीं तो थाली में बनाकर रखने वाला तरीका ही ठीक है.
हमने फाफड़ा बोर्ड से निकालने के लिये चाकू का प्रयोग किया है क्यों कि हमारे पास वह लचकदार पत्ती नहीं है  जो फाफड़ा निकालने के लिये प्रयोग में लाई जाती है, चाकू उसके बराबर लचीला नहीं होता फिर भी इससे काम तो चलाया ही जा सकता है.
कुरकुरे स्वादिष्ट फाफड़ा तैयार है. फाफडा को खट्टी चटनी या हरे धनिये की चटनी के साथ परोसिये और खाइये. बचे हुये फाफड़ा एअर टाइट कन्टेनर में भरकर रख लीजिये, जब भी आपका मन हो कन्टेनर से फाफड़ा निकालिये और गरमा गरम चाय के साथ खाइये.
सुझाव: फाफड़ा के आटे में पापड़ खार डाला जाता है, पापड़ खार न मिलने पर बेकिंग सोडा डाला जा सकता है. अगर पापड़ खार डाल रहें हैं तब 2 कप बेसन में 2 छोटे चम्मच पापड़ खार यूज कीजिये और पापड़ खार को पहले पानी में घोल कर यूज करें, तरीका वीडियो में देखा जा सकता है.
फाफड़ा का आटा गूथते समय ध्यान रखना है कि वह ज्यादा नरम और ज्यादा सख्त न हो. तलते समय तेल को अच्छा गरम होने दीजिये, अच्छे गरम तेल में फाफड़ा अच्छे सिक कर तैयार होंगे.
15-20 फाफड़ा,
समय - 50 मिनिट

मीठा चीला रेसिपी

मीठा चीला -

चीला को आप उत्तर भारत का दोसा भी कह सकते है.  यह नमकीन होता है और मीठा भी. कम तेल में बना चीला एक स्वादिष्ट नाश्ता तो है ही, आप इसे अपने बच्चे के टिफिन में भी रख सकते हैं.
मीठे चीला गुड़ और चीनी दोंनो से बनाये जा सकते हैं, लेकिन आज हम ये मीठे चीला गुड़ डाल कर बना रहे हैं.
आवश्यक सामग्री -
गेहूं का आटा - 350 ग्राम ( 3 कप)
गुड़ - 125 ग्राम (2/3 कप गुड़ के टुकड़े)
तेल या घी
विधि
मीठे चीले किसी भी तरह के तवे पर बनाये जा सकते हैं. यदि तवा नानस्टिक है तो आप इसमें मीठे चीले और भी अधिक आसानी से बना सकती हैं.
आटे को छान कर किसी बड़े बर्तन में निकाल लीजिये.
गुड़ को किसी बर्तन में डालिये, 3 कप पानी के साथ आग पर गरम होने के लिये रख दीजिये, गुड़ घुलने पर धीमी आग पर गुड़ को पकने दीजिये. आग बन्द कर दीजिये.
गुड़ के पानी को ठंडा होने पर छलनी से छान लीजिये. छने आटे में गुड़ का पानी डालिये और आटे को हाथ से इस तरह घोलिये कि आटे में गुठलियां न पढ़े. आटे के घोल को पकोड़े के घोल से पतला रखना है, और पानी की आवश्यकता हो तो डाला जा सकता है. अब इस घोल में एक टेबल स्पून तेल डालकर, घोल को अच्छी तरह फैट लीजिये, तैयार घोल को ढककर, 15-20 मिनिट के लिये रख दीजिये. चीले बनाने के लिये घोल तैयार है.
तवा आग पर गरम होने के लिये रखिये. तवे पर तेल की 2-3 बूंदे डालकर तवा को कपड़े से पोंछ लीजिये.
एक बड़ा चमचा घोल भरकर तवे पर डालिये, उसी चमचे की सहायता से, जल्दी से घोल को पतला, 10-12 इंच के व्यास में तवे पर फैलाइये (चीला दोसे की तरह ही तवे पर फैलाया जाता है). चीला के चारों ओर थोड़ा सा तेल डालिये और थोड़ा सा तेल चीला के ऊपर भी डालिये. एक चीला के लिये 2 छोटी चम्मच तेल पर्याप्त है.
मीडियम आग पर चीला को सिकने दीजिये. ऊपरी परत का कलर बदल कर गहरा हो जाय और निचली परत ब्राउन सिक जाय, तब चीला को कलछी से किनारे को उठाते हुये पलटिये और दूसरी ओर सिकने दीजिये. दूसरी ओर हल्की चित्ती आने पर चीला को उतार कर, किसी प्लेट में अल्यूमीनियम फाइल या किचन नैपकिन पेपर बिछा कर रखिये. इसी तरह सारे चीला बनाकर प्लेट में लगाकर रख लीजिये.
ठंडे या गरम स्वादिष्ट मीठे चीला, चटनी, अचार, मटर आलू की गाड़ी सब्जी और दही के साथ परोसिये और खाइये.
बच्चों के टिफन में ये नाश्ता आप तुरन्त बनाकर, फ्राई आलू मटर के साथ या जैम या मीठे अचार के साथ रख सकते हैं.
4 सदस्यों के लिये,
समय - 50 मिनिट

पीनट कुकीज़ रेसिपी

पीनट कुकीज -

कुकीज़ बच्चों से लेकर बड़ों सभी को पसंद होती हैं. मार्केट में अलग-अलग फ्लेवर्स की कुकीज़ उपलब्ध हैं, लेकिन आप इन्हें घर पर भी बहुत ही सरलता से बना सकते हैं तो क्यों न आज पीनट कुकीज़ बनाई जाएं.
आवश्यक सामग्री -
मैदा- 1 कप (120 ग्राम)
पाउडर चीनी- 1 कप (150 ग्राम)
भुनी हुई मूंगफली के दाने- ¾ कप (100 ग्राम)
पिघला हुआ बटर- ½ कप (100 ग्राम)
वनीला एसेन्स
टूटी-फ्रूटी- 2 से 3 टेबल स्पून
दूध- ¾ कप
इलाइची- 6
बेकिंग पाउडर- 1 छोटी चम्मच
विधि -
मिक्सर जार में मूंगफली के दाने डाल लीजिए और इनको हल्का दरदरा पीस लीजिए. इलाइची को भी छीलकर कूटनी से कूटकर तैयार कर लीजिए.
डोह तैयार कीजिए
एक बड़े प्याले में पिघला हुआ बटर और पाउडर चीनी डाल लीजिए. चीनी को बटर में अच्छे से मिलाकर तब तक फैंटिए, जब तक कि मिश्रण अच्छे से फूल न जाए. इस मिश्रण में ½ छोटी चम्मच वनीला एसेन्स डालकर मिक्स कर लीजिए और मिश्रण को अच्छे से फैंट लीजिए.
इसके बाद, मैदा में बेकिंग पाउडर डालकर सही से मिला लीजिए. इसमें इलाइची पाउडर और पिसी हुई मूंगफली के दाने भी डालकर मिक्स कर लीजिए. फिर, इस मिश्रण में मैदा-बेकिंग पाउडर मिक्स को डाल लीजिए और सभी सामग्री को मिलने तक मिक्स कर लीजिए.
इस मिश्रण को आटे की तरह गूंथकर तैयार कर लीजिए. मिश्रण में 1-1 छोटी चम्मच दूध डालते हुए हाथों से मसल-मसलकर डोह तैयार कीजिए. इस डोह को बनाने में कुल 4 छोटी चम्मच दूध का इस्तेमाल हुआ है. डोह को चिकना होने तक मसल-मसलकर तैयार कर लीजिए.
कुकीज बनाइए
माइक्रोवेव को 180 डिग्री सेन्टीग्रेड पर सैट करके प्रीहीट कर लीजिए. इसी बीच, डोह को बेलकर तैयार कर लीजिए. इसके लिए, पहले आटे को गोल करके एक जैसा कर लीजिए. फिर, चकले और बेलन पर थोड़ा सा सूखा मैदा लगा लीजिए ताकि आटा चिपके नही. अब, डोह को चकले पर रखकर बेलन से हल्का दबाव देते हुए 1/3 से.मी. मोटा बेल लीजिए. इसके बाद, कुकी कटर से बेली हुई शीट को कुकीज के आकार में काट लीजिए.
माइक्रोवेव में कुकीज़ बेक कीजिए
बेकिंग ट्रे को जरा से बटर से चिकना कर लीजिए और कुकीज को ट्रे पर थोड़ी थोड़ी दूर पर रख दीजिए. फिर, कुकीज को टूटी फ्रूटी से सजा लीजिए. प्रत्येक कुकी पर लाल और हरे रंग की टूटी फ्रूटी रखकर हल्का सा दबा दीजिए ताकि ये उन पर चिपक जाएं. इसके बाद, कुकीज को माइक्रोवेव में 12 मिनिट के लिए 180 डिग्री सेन्टीग्रेड पर बेक कर लीजिए. फिर, इन्हें चैक करते हुए हल्के ब्राउन होने तक 5 मिनिट और बेक कर लीजिए.
इसी दौरान, बचे हुए डोह से भी बिल्कुल पहले की तरह से बेलकर कुकीज काटकर ट्रे में सैट कर लीजिए. 12 मिनिट बाद, कुकीज को चैक कर लीजिए. कुकीज हल्के ब्राउन रंग की हो गई हैं, कुकीज तैयार है. इन्हें बेक होने में कुल 17 मिनिट लगे हैं.
ओवन में कुकीज़ बेक करने का तरीका
ओवन में बेक करने के लिए, ओवन को 160 डिग्री सेन्टीग्रेड पर प्रीहीट कर लीजिए. प्रीहीटिड ओवन में ट्रे को मध्यम रैक पर रख दीजिए और ओवन को 160 डिग्री सेन्टीग्रेड पर ही 10 मिनिट के लिए सैट कर दीजिए. 10 मिनिट बाद, कुकीज चैक कीजिए, कुकीज ब्राउन हो गई है. कुकीज एकदम तैयार हैं.  कुकीज 11 से 12 मिनिट में तैयार हो जाती है. कुकीज को हल्का सा ठंडा होने दीजिए.
कुकीज के थोड़े से ठंडा होने के बाद, एक प्लेट में निकाल लीजिए. पीनट कुकीज बनकर तैयार है.  क्रिस्पी और टेस्टी कुकीज़ को मजे से खाइए व खिलाइए या फिर किसी को गिफ्ट में दीजिए.
सुझाव
बटर को गरम नही करना है, सिर्फ पिघलाना है.
इन कुकीज को बनाने के लिए, मूंगफली के दानों को पीसकर मैदा में मिलाया गया है. आप इसकी जगह, नारियल का बुरादा या पिसे हुए बादाम का भी उपयोग कर सकते हैं.
टूटी फ्रूटी की जगह लाल चैरी, बादाम मूंगफली के दाने का भी इस्तेमाल कर सकते हैं.
अलग-अलग ओवन के बेकिंग समय में थोड़ा सा अंतर होता है. इसलिए कुकीज को पहले 10 मिनिट के लिए 160 डिग्री सेन्टीग्रेड पर लगाए. इसके बाद, चैक कीजिए. अगर ये हल्की ब्राउन हैं, तो कुकीज़ को चैक करते हुए थोड़ा समय बढ़ाकर उसी तापमान पर फिर से बेक कर लीजिए.
28 कुकीज बनाने के लिए पर्याप्त

एप्पल नट्स मफिन्स

एप्पल नट्स मफिन्स -


बच्चों के फेवरेट मफिन्स मार्केट में कई फ्लेवर्स में उपलब्ध हैं, लेकिन खुद से बनाएं मफिन्स का स्वाद ही अनोखा होता है. मनपसंद मेवों, सेब, वनीला एसेन्स इत्यादि से बने एप्पल नट्स मफिन्स बड़े ही नरम और स्वादिष्ट होते हैं. किसी भी छुट्टी वाले दिन या विशेष अवसर पर बच्चों को ये मफिन्स बनाकर सरप्राइज दीजिए और देखिए उनके चेहरे पर खिलती स्माइल देखिये।।
आवश्यक सामग्री -
सेब- 1 (मध्यमाकार) (200 ग्राम)
मैदा- ½ कप (125 ग्राम)
दही- ½ कप
बटर (मक्खन)- ½ कप से कम (75 ग्राम)
चीनी- ½ कप (100 ग्राम)
बादाम- 10 से 12
अखरोट- 2 टेबल स्पून
पाउडर चीनी- 2 टेबल स्पून
बेकिंग पाउडर- 1 छोटी चम्मच
बेकिंग सोडा- ¼ छोटी चम्मच
इलाइची- 4
वनीला एसेन्स
विधि -
एप्पल नट्स मफिन्स बनाने के लिए पहले सेब का डंठल हटाकर छील लीजिए. फिर, इसे कद्दूकस कर लीजिए.
इलाइची को छीलकर दानों को पीस लीजिए और इसमें पाउडर चीनी मिला लीजिए. पाउडर चीनी-इलाइची का मिश्रण तैयार है.
सेब की सॉस तैयार कीजिए
गैस जलाकर पैन को गरम कर लीजिए. गरम पैन में कद्दूकस किया हुआ सेब और चीनी डाल दीजिए. इसको चीनी के अच्छी तरह से घुलने तक और सॉस जैसा होने तक पका लीजिए. गैस को धीमी ही रखिए.
जब तक सेब की सॉस तैयार हो, तब तक मेवे काटकर तैयार कर लीजिए. बादाम को 6 से 7 टुकड़ों और अखरोट को छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लीजिए. पैन में बन रही सॉस को बीच-बीच में चलाते रहिए. सेब के एकदम पारदर्शी होते और चीनी के चाशनी बनकर सेब में अच्छे से घुल जाते ही एप्पल सॉस बनकर तैयार है, गैस बंद कर दीजिए.
बैटर बनाइए
एक बड़े प्याले में बटर (मक्खन) और तैयार एप्पल सॉस डाल लीजिए. दोनों सामग्री को अच्छे से मिक्स होने तक मिला लीजिए. एक अलग बड़े प्याले में मैदा लीजिए और इसमें बेकिंग सोडा और बेकिंग पाउडर डाल दीजिए. सारी चीजों को अच्छी तरीके से मिक्स कर लीजिए.
इसके बाद, मैदा-बेकिंग सोडा-बेकिंग पाउडर मिक्सचर को सॉस-मक्खन के मिश्रण में डाल दीजिए. इसमें थोड़ा-थोड़ा दही डालते हुए सभी सामग्रियों को सही से मिला लीजिए. फिर, इसमें नट्स (मेवे) डाल दीजिए और अच्छे से मिलने तक मिक्स कर लीजिए. नट्स को मिलाने के बाद, मिश्रण में ½ छोटी चम्मच वनीला एसेन्स डालकर मिक्स कर लीजिए. मफिन्स के लिए बैटर बनकर तैयार है.
मफिन्स बेक कीजिए
इसके लिए, सबसे पहले माइक्रोवेव को कन्वेक्शन मोड पर 180 डिग्री सेन्टीग्रेड पर प्रीहीट कर लीजिए. मफिन्स मेकर (ट्रे) के सांचों को थोड़े से घी या मक्खन से चिकना कर लीजिए. फिर, इन सांचों में थोड़ा सा सूखा मैदा भी डाल दीजिए और इसे हिलाकर चारों ओर मैदा की पतली सी परत बिछा लीजिए. इससे मफिन्स को आसानी से सांचों से बाहर निकाला जा सकता है. फिर, ट्रे को उल्टा करके अतिरिक्त मैदा को प्याले में झाड़ दीजिए.
इसके बाद, ट्रे के प्रत्येक सांचे को बैटर से ¾ हिस्सा भर दीजिए, थोड़ा-थोड़ा सांचे को खाली रहने दीजिए. बैटर को चम्मच से दबाकर एक जैसा कर दीजिए. अब, ट्रे को माइक्रोवेव में रख दीजिए और कन्वेक्शन मोड पर 180 डिग्री सेन्टीग्रेड तापमान पर 20 मिनिट के लिए बेक कीजिए.
20 मिनिट बाद मफिन्स को चैक कीजिए. मफिन्स ऊपर से हल्के ब्राउन हुए है. मफिंस के अंदर चाकू गढा़कर भी चैक कर लीजिए. यदि चाकू मिश्रण से बाहर साफ निकलता है, तो मफिन्स बेक हो चुके होंगे है और यदि चाकू के ऊपर बैटर लगकर आ रहा है तो अभी मफिंस अन्दर से कच्चा रह गया है. मफिन्स हल्के से कच्चे है, इसलिए इन्हें 4 मिनिट के लिए और बेक कर लीजिए. फिर, चैक कीजिए, मफिन्स गोल्डन ब्राउन होकर तैयार हैं. मफिन्स को पूरा बेक होने में 24 मिनिट लग गए हैं.
मफिन्स के थोडा़ ठंडा होने के बाद, पाउडर चीनी - इलाइची के मिश्रण को छलनी का उपयोग करते हुए मफिन्स के ऊपर छिड़क कर गार्निश कीजिए. एप्पल नट्स मफिन्स तैयार हैं, इन्हें आप फ्रिज में रखकर 3 से 4 दिनों तक मज़े से खा सकते हैं.
सुझाव
इन मफिन्स में आप काजू या अन्य मेवे भी डाल सकते हैं.
मफिन्स के लिए दही की जगह दूध का भी इस्तेमाल कर सकते हैं.
विभिन्न ओवन/ माइक्रोवेव के बेकिंग समय में थोड़ा सा अंतर होता है. इसलिए मफिन्स को पहले 15 या 20 मिनिट बेक कर लीजिए, फिर इन्हें चैक कीजिए और मफिन्स को अच्छे गोल्डन ब्राउन होने तक समय बढ़ाते हुए बेक कीजिए.

No comments:

Post a comment

राजशाही सेवईं

राजशाही सेवईं  ========== आवश्यक सामग्री : सेंवई_Sewai – 250 ग्राम, शक्कर_Sugar – 500 ग्राम, नारियल_Coconut – 100 ग्राम (भ...